Ghazipur जब फूट फूट कर रोई डीएम के सामने दिव्यांग महिला

319

गाजीपुर-जखनियां तहसील में मुख्य सम्पूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। जहां पर अध्यक्षता करने के लिए जिलाधिकारी आर्यका अखौरी पहुंचीं। इस दौरान शिकायतकर्ताओं की लम्बी कतार सभागार के बाहर तक लगी रही। डीएम ने उपजिलाधिकारी आशुतोष कुमार श्रीवास्तव को निर्देशित किया कि क्षेत्र में जो भी शिकायतें लंबित पड़ी हैं, अभियान चलाकर उनका त्वरित निस्तारण कराया जाए। इस दौरान सर्वाधिक मामले नाली, रास्ता, आबादी, पैमाइश, वरासत, पंचायत भवन आदि से संबंधित रहीं। डीएम ने कहा कि वरासत को नियमित कराने के लिए संबंधित लेखपालों की टीम बनाकर गांव में सर्वे कराए जाएं। इसके अलावा कंप्यूटर सेक्शन में लंबित कार्यों को डोर टू डोर कराने का आदेश दिया। कहा कि एक माह से अधिक किसी भी मामले को अधूरा न छोड़ें। कहा कि आदेश का पालन कड़ाई से होना चाहिए। लापरवाही बरतने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध कार्रवाई करने का आदेश दिया। इधर समाधान दिवस में लोगों को जिलाधिकारी के आने का पता चला वहां भीड़ जुट गई। शहाबपुर गांव के श्यामनारायण यादव ने शिकायत किया कि गांव के दर्जनों घरों के नाबदान के पानी के निकासी के लिए नाली नहीं बनाई गई है। बूढ़ानपुर गांव में घनी आबादी होने के बाद भी 3 वर्ष से सफाईकर्मी नहीं पहुंचने की शिकायत चंद्रशेखर सिंह ने की। बताया कि खंड विकास अधिकारी के यहां बार-बार शिकायत करने के बाद भी सफाईकर्मी की नियुक्ति नहीं की जाती। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा डीपीआरओ को जांच कर गांव में सफाई कर्मी नियुक्त करने का आदेश दिया दिया। लालापुर गांव की एक महिला शिकायती पत्र जिलाधिकारी को देते हुए रोने लगी। सबसे ज्यादा मार्मिक स्थिति तब हो गई, जब तीन माह से न्याय की आस में तहसील का चक्कर लगाने वाली सादात के वार्ड 9 निवासिनी अधेड दिव्यांग महिला रामरती रो पड़ी। जिसके बाद उसने रोते हुए जिलाधिकारी को अपने हाथों से पत्र दिया। बताया कि लबे रोड पर हमारे पिता रामकिशुन के नाम साढे़ 8 फुट चौड़ी जमीन है और हमारे भाई बलिराम गुप्ता के नाम पर 4 फुट है। जिस पर चैनपुरवा गांव के त्रिभुवन यादव द्वारा अवैध कब्जा कर लिया गया है। कब्जे को खाली कराने के लिए थाने से लेकर तहसील मुख्यालय तक बीते 3 माह से चक्कर लगाने के बाद भी न्याय नहीं मिला। जिसके बाद आज न्याय की आस में यहां आई है। इस मौके पर मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता, तहसीलदार रामजी, नायब तहसीलदार सत्येंद्र कुमार, खंड विकास अधिकारी जसवंत कुमार, खंड शिक्षा अधिकारी निर्मलेन्दू चौधरी, आपूर्ति निरीक्षक आदि रहे।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries