Ghazipur news:एक फिल्म बायकॉट-बायकॉट भी बननी चाहिए

250

गाजीपुर-इधर कुछ वर्षों से हमारे देश में बॉलीवुड की कुछ फिल्मों का कुछ विशेष संगठन के लोगों के द्वारा बायकॉट – बायकॉट का नारा दिया जाता रहा है। इस विषय पर हमने थोडा विष्लेषण किया है जिसे आप से शेयर कर रहा हुँ।सबसे बडा सवाल यह है कि क्या इनके बायकॉट का फिल्मों को नुकसान होता है या फायदा होता है।अभी तक पाठान फिल्म के बायकॉट को लेकर मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा तथा आसाम के मुख्यमंत्री सहित तमाम हिंदूवादी संगठनों सहित भाजपा के कुछ वर्तमान तथा पुर्व सांसदों सहित कार्यकर्ताओं ने शाहरुख खान की पिक्चर पठान का पिछले महीनों से सोशल मीडिया पर बायकॉट-बायकॉट का नारा लगा रहे हैं।इनके बायकॉट का इन फिल्मों पर क्या प्रभाव पड़ता है इसे जानने का प्रयास करते है।आइए यहां हम आपको कुछ फिल्मों का उदाहरण देते हैं। संजय लीला भंसाली की फिल्म पद्मावत का इन लोगों ने जबरदस्त विरोध किया वह फिल्म सुपरहिट हो गई। इसी तरह से लोगों ने आमिर खान की पिक्चर पीके का विरोध किया,पीके सुपरहिट हो गई।इसी तरह से लिपस्टिक अंडर माय बुर्का, हैदर ,लाल सिंह चड्ढा,डर्टी ,ब्रह्मा, रासलीला रामलीला, आरक्षण ,रक्षाबंधन आदि फिल्मों का इन लोगों ने बायकॉट -बायकॉट करने का समाज में नारा दिया लेकिन इसका प्रभाव ठीक इसके विपरीत पड़ा।ऐसी तमाम फिल्में जिनको इन लोगों ने बायकॉट करने का अभियान चलाया वो सुपर हिट हो गई।यानी जीन फिल्मों को आम आदमी न जानता है न देखने की इच्छा रखता था उसके मन मे भी फिल्मों के प्रति इन लोगों ने बायकॉट-बायकॉट का इतना शोर मचाया की इन फिल्म को देखने की आम आदमी मे जिज्ञासा उत्पन्न कर दी।वही हाल इस समय में पठान पिक्चर को लेकर देखने को मिल रहा है।मिडिया के अनुसार पठान फिल्म को बनाने में जितनी लागत आई है उसका 5 गुना एडवांस टिकट बुक हो गए हैं। कभी-कभी तो लेखक को शक होता है कि इन संगठनों के प्रमुखों द्वारा इन फिल्मों का गुपचुप तरीका से प्रमोशन करने के लिए बायकॉट-बायकॉट का नारा तो नहीं दिया जाता क्योंकि परदे के पीछे चलने वाला खेल आमतौर पर आमआदमी नहीं जानता है।फिल्म कोई हरी सब्जी नहीं है जो एक दो दिन में सुख या मुर्झा जायेगी यह सालों-साल चलने वाली एक किताब की तरह है जो कई वर्षों तक लोग देखेंगे। बायकॉट करने वाले सिनेमा हालों के सामने एक दिन, दो दिन या हफ्तों,महिनों विरोध करेंगे लेकिन फिल्म चलती रहेंगी।दिनांक 27 जनवरी को इस खबर में थोडा नया अंश जोड़ रहा हुँ, 26 जनवरी की देर सांम खबर आयी कि पाठान फिल्म ने अबतक के ओपनिंग डे के सारे रिकॉर्ड तोड़ डाले।अबतक ओपनिंग पर किसी फिल्म ने अधिकतम 53.50 करोड़ कमाये थे लेकिन बडे-बडे महारथियों के बायकॉट-बायकॉट का नारा देने के बाद भी पठान फिल्म ने 57 करोड़ का कलेक्शन आंकड़ा पार कर लिया।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries