Ghazipur news:चेयरमैन पद के आरक्षण को लेकर भाजपाइयों में घमासान

347

गाजीपुर- नगर पालिका परिषद के अध्यक्ष पद के आरक्षण को लेकर भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ता ही आपस में दो भागों में बंटे हुए दिख रहे हैं।एक पक्ष चाहता है कि नगर पालिका परिषद गाजीपुर के चेयरमैन पद का बैकवर्ड के श्रेणी हो तो दूसरा पक्ष चाहता है कि परिषद के चेयरमैन का पद सामान्य श्रेणी मे हो।बैकवर्ड का आरक्षण चाहने वाला गुट दिनांक 28 फरवरी 2023 को जिलाधिकारी गाजीपुर से जनता दर्शन में उनके कार्यालय मे मिला और पत्रक सौंपा। पत्रक के अनुसार नगर पालिका परिषद गाजीपुर के अध्यक्ष का पद विगत निर्वाचन में वर्ष 2002 में अन्य पिछड़ा वर्ग,वर्ष 2007 में अनारक्षित, वर्ष 2012 में अनारक्षित, वर्ष 2017 में महिला के लिए आरक्षित रहा है।पिछड़े गुट का नेतृत्व करने वाले संतोष जयसवाल के अनुसार अधिसूचना संख्या-3811/09.01.2022-04 निर्वाचन/2022 दिनांक05.12.2022 के पृष्ठ संख्या-6 के क्रमांक161 पर आरक्षण “अनारक्षित” रखा गया है जिससे क्षुब्ध होकर हम यह आपत्ति प्रस्तुत कर रहे है। जिससे अन्य पिछड़ा वर्ग के निर्वाचकों एवं प्रत्याशियों का अधिकार प्रभावित हो रहा है। इस संदर्भ में भाजपा नेता संतोष जयसवाल अपने पत्रक में 10 बिंदुओं का हवाला देते हुए आरक्षण को पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित करने की मांग किया है। आने वाले समय में नगर पालिका परिषद गाजीपुर के चेयरमैन का पद आरक्षण किस श्रेणी मे होगा यह तो भविष्य के गर्भ में है लेकिन भाजपाइयों में घमासान अभी से मचा हुआ है।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries