Ghazipur news:स्व०कैलाश यादव का सफर फर्श से अर्श तक

545

गाजीपुर- जनपद गाजीपुर के समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता स्वर्गीय कैलाश यादव की प्रतिमा का अनावरण करने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश अखिलेश यादव 9 फरवरी 2023 को गाजीपुर जनपद के संकरा ग्रामसभा मे स्थित लूटावन महाविद्यालय में आ रहे हैं। इससे पूर्व भी समाजवादी पार्टी के सुप्रीमो अखिलेश यादव ने प्रतिमा के अनावरण के लिए समय देकर किन्ही कारणों से नहीं आ पाए।उक्त निर्धारित कार्यक्रम के लिए स्वर्गीय कैलाश यादव के सुपुत्र विधायक डा०विरेन्द्र यादव ने निमंत्रण पत्र सहित टेंट , कुर्सी इत्यादि की व्यवस्था कर चूके थे।खैर जो भी नियती तय करती है वही होता है। एक बार फिर अखिलेश यादव जी ने 9 फरवरी 2023 को आने का समय दिया है। पूर्व मुख्यमंत्री सपा सुप्रीमो के कार्यक्रम को भव्य रूप देने के लिए समाजवादी पार्टी के तमाम दिग्गज लोग लगे हुए हैं ।आइये एक नजर स्व०कैलाश यादव के राजनैतिक सफर पर भी डाल लेते है।जनपद गाजीपुर के विकासखंड सदर के एक छोटा सा गांव जैतापुरा जो गाजीपुर-चोचकपुर मार्ग पर स्थित है। जैतपुरा के एक मामूली किसान परिवार में स्वर्गीय कैलाश यादव का जन्म 10 जुलाई 1951 को हुआ था। स्वर्गीय कैलाश यादव सर्वप्रथम 1988 में जैतपुरा ग्राम सभा के ग्राम प्रधान निर्वाचित हुए।इसके बाद 1995-96 में जिला पंचायत के सदस्य निर्वाचित हुए।वर्ष1996 में तेरहवीं विधानसभा के चुनाव में जमानिया विधानसभा क्षेत्र से विधानसभा का चुनाव लड़े और निर्वाचित होकर उत्तर प्रदेश की विधानसभा में बातौर विधायक पहुंचे।वर्ष 2002 में चौदहवीं विधानसभा के सदस्य के लिए एक बार फिर जमानिया विधानसभा से विधायक निर्वाचित हुए।2002-3 में ये प्राक्कलन समिति के सदस्य रहे।वर्ष 2003 में मुलायम सिंह यादव के मंत्रिमंडल मे स्वर्गीय कैलाश यादव को राजस्व व औद्योगिक विकास मंत्री का पद मिला। वर्ष 2007 के विधानसभा चुनाव में जमानिया विधानसभा से बहुजन समाज पार्टी के प्रत्याशी डॉक्टर राजकुमार सिंह गौतम के द्वारा इन्हें पराजित किया गया।विधानसभा क्षेत्र के हुए नये परिसीमन के बाद वर्ष 2012 में विधानसभा क्षेत्र जंगीपुर से विधायकी का चुनाव लड़े और फिर निर्वाचित होकर तीसरी बार विधानसभा में पहुंचे। वर्ष 2012-13 के दौरान अखिलेश यादव के मंत्रिमंडल उन्हें पंचायत राज मंत्री की जिम्मेदारी मिली थी। स्व०कैलाश यादव के आकस्मिक निधन के बाद हुए उपचुनाव मे समाजवादी पार्टी ने इनकी पत्नी स्व०किस्मती देवी को जंगीपुर विधानसभा से उम्मीदवार बनाया और जनता ने इनको भी भारी मतों से विधायक बनाया।इसके बाद इनके पुत्र डाक्टर विरेंद्र यादव जो जिला पंचायत के चेयरमैन भी रह चूके है, लगातार जंगीपुर विधानसभा से विधायक बनते चले आ रहे है। वर्ष 2016 के फरवरी मांह में स्व० कैलाश यादव को पैरालाइसिस अटैक हुआ और इन्हें वाराणसी से एयर एंबुलेंस से मेदांता हास्पिटल मे ले जाकर भर्ती कराया गया वहां उपचार के दौरान 9 फरवरी 2016 को इनका देहांत हो गया। स्व०रामकरन दादा के बाद स्व०कैलाश यादव जनपद के अपने बिरादरी के सबसे कद्दावर नेता थे।फोटो शोसल मिडिया से

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries