Lucknow news : 53 जिलों के परिषदीय शिक्षकों पर लगा छुट्टी में फर्जीवाड़े का आरोप

416

लखनऊ-उत्तर प्रदेश के परिषदीय स्कूलों के शिक्षकों पर छुट्टी को लेकर ऑनलाइन व्यवस्था का मनमाना तोड़ निकालने का आरोप लगा है। आरोप है कि मानव संपदा पोर्टल के जरिए छुट्टियों में भी फर्जीवाड़ा किया जा रहा है।पोर्टल डाटा की समीक्षा में पता चला है कि एक-दो नहीं बल्कि 53 जिलों में शिक्षकों की छुट्टी में कुछ खेला किए जाने की आशंका है। इसमें रिपोर्टिंग प्रधानाध्यापक और खंड शिक्षा अधिकारियों (बीईओ) की ओर से कोई आपत्ति नहीं की गई। जिससे इनकी मिलीभगत का माना जा रहा है।मामला सामने आने के बाद स्कूल महानिदेशक ने संबंधित जिलों के बीएसए से 5 जनवरी तक जवाब मांगा है। प्रदेश के 53 जिलों के शिक्षकों ने मानव संपदा पोर्टल पर अपनी लॉगिन आईडी से सुबह मे आकस्मिक आकाश लिया और दोपहर में कैंसिल कर दिया। पोर्टल ने सीएल कैंसिल करते ही उपस्थिति दर्ज कर दी। शिक्षक छुट्टी पर भी रहे और गैरहाजिर भी नहीं हुए।अवकाश लेने और कैंसिल करने की ऑनलाइन सूचना रिपोर्ट अध्यापक और इलाके के खंड शिक्षा अधिकारी तक पहुंच जाती है। दोनों ने देखा है और इसे नजरअंदाज कर दिया। दोनों इस बात से बेखबर रहे कि पोर्टल की हर गतिविधि मास्टर सर्वर पर दर्ज हो रही है।इन्हें इस बात की भी आशंका नहीं रही कि पोर्टल की गतिविधि की स्क्रीनिंग हो सकती है।

अब तक क्या है व्यवस्था ? 4 दिन का सीएल स्वीकृत करने का अधिकार प्रधानाध्यापक को है और बाकी छुट्टियां खंड शिक्षा अधिकारी मंजूर करते हैं।प्रधानाध्यापक के रिपोर्टिंग ऑफिसर खंड शिक्षा अधिकारी होते हैं ।मानव संपदा पोर्टल प्रदेश सरकार ने सरकारी कर्मचारियों की सुविधा के लिए शुरू किया था। इसका लाभ राज्य के करीब 74 विभाग के कर्मचारियों को मिल रहा है।इस पोर्टल पर बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षकों, कर्मचारियों को भी ऑनलाइन सेवाएं मिल रही हैं।शिक्षकों को भी इस पोर्टल पर छुट्टियां,तबादले के लिए आवेदन की सुविधा है।

किन जिलों के शिक्षकों पर लगा है आरोप ? कथित रूप से इस खेल में प्रदेश के 53 जिलों के शिक्षक शामिल बताए जा रहे हैं। इसमें उन्नाव, रायबरेली, सीतापुर,हरदोई,बाराबंकी, लखीमपुर, अयोध्या ,सुल्तानपुर, आगरा, प्रयागराज, झांसी, गोरखपुर, बरेली ,वाराणसी ,अलीगढ़,अमेठी, औरैया, आजमगढ़, बलरामपुर, बांदा, बहराइच, बिजनौर, जालौन, हाथरस, महोबा ,जौनपुर, मथुरा, पीलीभीत, प्रतापगढ़, रामपुर, सहारनपुर, संत कबीर नगर, संत रविदास नगर, फतेहपुर ,मिर्जापुर, कासगंज, एटा ,मैनपुरी शामिल है।

शिक्षकों के आकस्मिक अवकाश में भी खेल — पोर्टल पर छुट्टियों के फर्जीवाड़े में शिक्षकों ने आकस्मिक अवकाश में भी खेल किया है। शिक्षकों ने पोर्टल पर कैजुअल लीव (सीएल) और एक दिन चिकित्सा अवकाश आनलाईन लिया ओर उसी दिन दोपहर 12:00 बजे के बाद शिक्षकों ने छुट्टी कैंसिल कर दी तो कुछ शिक्षकों ने रात 10:00 बजे के बाद छुट्टी कैंसिल की। अधिकारियों ने वजह नहीं पूछी जबकि रिपोर्टिंग ऑफिसर की संस्तुति पर ही छुट्टी मिलती है। साभार-लाइव हिन्दुस्तान

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries