आजमगढ़-छठ पूजा से घर लौट रहे पिता-पुत्री की दुर्घटना में मौत

आजमगढ़। छठ पूजा से लौट रहे पिता-पुत्री की अज्ञात वाहन से कुचलकर शनिवार की सुबह मौत हो गई। पुलिस पहुंची तो पता चला कि मृतक रिश्ते में पिता-पुत्री हैं। हादसे की भनक मिली तो परिवार में कोहराम मच गया। स्वजन पुलिस को फोन पर चीखते-चिल्लाते इतना की बता पाए कि पिता-पुत्री आजमगढ़ छठ पूजा में सम्मिलित होने गए थे।  चौबेपुर के बरतरा गांव निवासी महेंद्र विश्वकर्मा (40) उनकी पुत्री पायल विश्वकर्मा (18) आजमगढ़ में रिश्तेदार के यहां छठ पूजा में शामिल होने आए थे। यहां पूजा समाप्त होने पर पिता-पुत्री शनिवार की सुबह बाइक से वाराणसी लौट रहे थे। हाईवे किनारे स्थित लालगंज डिग्री कालेज के निकट उनकी बाइक किसी तेज रफ्तार वाहन की चपेट में आ गई। जबरदस्त हादसे में दोनों की मौके पर ही मौत हो गई। घटनास्थल देखने से महसूस हुआ कि हादसा किसी बड़े एवं तेज रफ्तार वाहन से हुआ होगा। पुलिस के अनुसार हादसा सुबह दस बजे के इर्द गिर्द हुआ है। हालांकि, पुलिस हादसा करके भागे वाहन के बारे में पता करने में जी-जान से जुट गई है। इंस्पेक्टर देवगांव संजय कुमार सिंह ने बताया कि फोन पर हादसे की सूचना मिलते ही वह चौकी प्रभारी अनिल  कुमार सिंह के साथ मौके पर पहुंच गए। लेकिन वहां उनके करने के लिए कुछ नहीं बचा था। पिता-पुत्री मौके पर मृत हालत में पड़े थे। उनके पास से मिले मोबाइल के जरिये मृतकों के स्वजनों से बात हो गई है। चौबेपुर के बरतरा गांव के रहने वाले हैं। मृतक रिश्ते में पिता-पुत्री है। आजमगढ़ में किसके यहां आए थे, यह जानकारी दोपहर तक नहीं हो सकी थी।

Also Read:  गाजीपुर के शिक्षक और शिक्षमित्र देगें 70 लाख रू०की मदद