क्यों खौफ ज़दा है शबनम ?

जमांनिया ( गाजीपुर ) – कश्मीरी आतंकवादियों को असलहा सप्लाई करने के मामले में गिरफ्तार अलीशेख ,निवासी कसेरा पोखरा कोतवाली जमानिया के WhatsApp ग्रुप को एटीएस के खंगालने के बाद जो तथ्य उभरकर सामने आए हैं ,वह काफी चौंकाने वाले हैं। अलीशेख के WhatsApp ग्रुप्स चेक करने पर पता चला कि, वह आतंकवादियों के चार ग्रुप से जुड़ा हुआ था । एक नंबर उसके मोबाईल मे आईएसआई के नाम से सेव था । वह आई एस आई की एक महिला एजेंट थी, जो अक्सर अली शेख से WhatsApp पर चैट करती थी। चैट किए गए मैसेज को खंगालने पर पता चला कि पाकिस्तानी महिला एजेंट ने , जब अलीशेख से एक बार पुच्छा कि आप जेहाद के लिए क्या कर सकते हैं ? तो अली शेख ने जवाब देते हुए कहा कि जेहाद की राह में जान भी कुर्बान है । कश्मीरी आतंकवादियों ने, कश्मीर के बैंक से अली शेख के खाला के खाते में एक बार 40,000 और दुशरी बार 10000 रु० भी डाला है। अलीशेख ने यह पैसा अपने खाला से निकलवा कर लिया भी है । लखनऊ एटीएस मुख्यालय में अपने बेटे अलीशेख से मिलकर अपने गांव कसेरा पोखरा वापस लौटी उसकी मां शबनम चेहरे पर खौफ साफ नजर आता है।

Play Store से हमारा एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें Find us on Play Store