गाजीपुर- एक माँ की अधुरी इच्छा

0
275

गाजीपुर-एक विवाहिता ससुरालियों की प्रताड़ना व उनके द्वारा घर से निकाले जाने के बाद भटकते हुए अपने घर (मायका)पहुंची। विवाहिता आखिरकार ससुरालियों की प्रताड़ना को नहीं झेल पाई और तबीयत बिगड़ने से उसकी मौत हो गई। जिसके बाद परिजनों में कोहराम मच गया। पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।जखनियां क्षेत्र के झोटना निवासिनी प्रियंका कुमारी आयु 28 वर्ष पुत्री उमेश राम की शादी 6 साल पूर्व 2014 में सदर कोतवाली क्षेत्र के बबेड़ी गांव निवासी विशाल राम पुत्र रामरतन संग हुई थी। शादी के बाद प्रियंका को 2 पुत्र भी हुए, तो वर्तमान में 2 व 4 वर्ष के हैं। आरोप है कि प्रियंका के ससुराली आए दिन उसे मारते पीटते रहते थे। आखिरकार हद तब हो गई जब बीते 17 अक्टूबर को उन्होंने उसे फिर से मारा-पीटा और अबकी बार उसे घर से निकाल दिया। जिसके बाद वो अपने दोनों पुत्रों को छोड़ रोते बिलखते मायके पहुंची। वहां मानसिक परेशानी के चलते गुरूवार को उसकी तबीयत अचानक खराब हो गई तो परिजन उसे लेकर सीएचसी पहुंचे। वहां हालत गंभीर होने पर उसे मऊ के फातिमा अस्पताल ले जाने की सलाह दी गई। जिस पर प्रियंका ने गंभीर हाल में अपने बच्चों से मिलने की इच्छा जताई तो पिता उमेश उसे लेकर उसके ससुराल पहुंचे। जहां ससुरालियों ने उसे अपने बच्चों से मिलने तक नहीं दिया। जिसके बाद परिजनों ने कोतवाली में सूचना भी दी। जिस पर पहुंची पुलिस प्रियंका को लेकर जिला अस्पताल पहुंची। वहां से गंभीर हाल में वाराणसी रेफर कर दिया गया लेकिन रास्ते में ही प्रियंका की मौत हो गई। उसके मौत की सूचना मिलते ही परिजनों में कोहराम मच गया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा। पिता ने पुलिस को मौखिक रूप से बताया कि ससुरालियों द्वारा प्रियंका को मारा पीटा जाता था। इस बाबत कोतवाल अनुराग कुमार ने बताया कि शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here