गाजीपुर-कई उम्मीदवार दल से बगावत में भाजपा से निष्कासित,

804

गाजीपुर-महात्वाकांक्षा अदमी से वह सब करती जिसे नियमतः उसे नहीं करना चाहिए। वर्तमान समय मे पुरे प्रदेश मे त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव चल रहे है।इस मे सभी दल अपने-अपने समर्थित जिला पंचायत सदस्यों को अधिक से अधिक जिता कर जिला पंचायत चेयरमैन की सीट पर काबिज होना चाहते है।अपने-अपने दलों से समर्थन नहीं मिलने पर लगभग सभी दलों के कार्यकर्ता बागी उम्मीदवार बन कर चुनाव लड़ रहे है और राजनैतिक दल उन्हें अनुशासन हीनता के चाबुक से दल के बाहर का रास्ता दिखा रहे है।इसी अनुशासन हीनता के चलते भारतीय जनता पार्टी ने जिला पंचायत के अधिकृत प्रत्याशियों के खिलाफ बागी प्रत्याशी बनकर अपने ही दल के उम्मीदवारों को चुनौती दे रहे भाजपा कार्यकर्ताओं एवं पदाधिकारियों के खिलाफ बड़ी कार्यवाही करते हुए भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के संस्तुति पर जिलाध्यक्ष भानु प्रताप सिंह ने बाराचवर प्रथम से चुनाव लड़ रही श्रीमती लली राय पत्नी राजेश राय, बाराचवर चतुर्थ से श्रीमती अंजू सिंह पत्नी अजय सिंह ,कासिमाबाद द्वितीय से जितेन्द्र कुमार सत्यार्थी, कासिमाबाद पंचम से सत्य प्रकाश सिंह पप्पू, मरदह प्रथम से हरिप्रसाद पांडेय, विरनो तृतीय से विवेकानंद पांडेय, जखनियां द्वितीय से राजेश कुमार सोनकर, जखनियां चतुर्थ से पप्पू गोड़,जखनियां पंचम से लक्ष्मण चौहान, सादात द्वितीय से शशिकला, सादात तृतीय से बृजबाला, सैदपुर तृतीय से मिथिलेश दीक्षित, रेवतीपुर प्रथम इंदू सिंह एवं वंशिका राय,रेवतीपुर द्वितीय से अशोक चौरसिया, रेवतीपुर तृतीय से मनोज कुमार राय,रेवतीपुर चतुर्थ से सुनन्दा सिंह,भदौरा प्रथम से श्रीमती ममता सिंह पत्नी भक्ति सिंह, भदौरा चतुर्थ से निशा कुमारी तथा भांवरकोल चतुर्थ से प्रिया उपाध्याय को बागी प्रत्याशी मानते हुए पार्टी के सिद्धांत विचार से परे होकर कार्य करने के कारण आगामी छ वर्षों के लिए भारतीय जनता पार्टी की प्राथमिक सदस्यता एवं कार्य गतिविधियों से निलम्बित कर दिया गया है। जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह ने कहा की संगठन से जुडकर कार्य करने वाला कोई भी व्यक्ति संगठन के निर्णय एवं सिद्धांत विचार की अवहेलना कर संगठन मे नहीं बना रह सकता।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries