गाजीपुर-कभी पीएम के दावेदार आज खुद पीएम के भरोसे

0
461

गाजीपुर-2010 के बाद कई बार समय ऐसा आया था , कि नीतीश कुमार को प्रधानमंत्री पद के लिए प्रस्तावित करने की बात उठती थी ! आज नीतिश जी खुद के प्रदेश में ही मोदीजी के भरोसे बैठा दिए गए ! खैर 2014 से पहले की अपनी राजनीति रही हो या 2014 के बाद की , मोदीजी एक ऐसे राजनीतिक बरगद बने जिसने अपने नीचे घास फूस भी नहीं जमने दिया !
अलबत्ता भाजपा के विपक्षी नेताओं की छवि धूमिल करने के प्रयास सोशल मीडिया लगायत मेनस्ट्रीम मीडिया में भी जारी हैं ! वह लगातार हार रहे हैं पर नेतृत्व और चेहरे के हिसाब से फिर भी चर्चा में बने रहे हैं ! वहीं नीतिश कुमार आज चर्चा से ही बाहर होते जा रहे हैं ! आज तेजस्वी यादव बिहार में पूरे फ्रंटफुट पर हैं ! चुनाव परिणाम जो भी हो पर दो दर्जन हैलीकॉप्टर डेली बिहार में एक युवा राजनेता जिसकी कम पढ़ाई लगायत , उसकी पारिवारिक पृष्ठभूमि को घसीटने के लिए रोज बिहार में उतर रहे हैं ! फिर भी फ्रंटफुट पर खेल रहे तेजस्वी का प्रदर्शन लाजवाब है !
पहली बार वह भाजपा को खुद की बनाई पिच पर खेलने पर मजबूर कर दिए ! दस लाख नौकरियों वाले वायदे ने शुरू से अभी तक भाजपा को कंफ्यूज़ किया हुआ है ! कभी इसके विरोध में बयान दे देते हैं उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी , फिर घोषणापत्र में उन्नीस लाख नौकरियां , फिर प्रधानमंत्री मोदी जी का नौकरियां राजद के लिए रिश्वत का माध्यम है यह बयान ! खैर बिहार का चुनाव परिणाम देश के राजनीतिक बुखार का टेंपरेचर चेक करेगा यह तय है …… बाकी नमः शिवाय ( राहुल सिंह के फेसबुक वाला से )

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here