गाजीपुर का आर०टी०आई०मैदान जो रात मे गुलजार होता है

गाजीपुर- संतोष यादव की रिपोर्ट – गाजीपुर का आर०टी०आई० मैदान जो कभी कृषि फार्म हुआ करता था। जहाँ कभी किसानो के लिये उन्नत बीज की नर्सरी हुआ करती थी आज खाली-खाली मैदान बना हुआ है। अगल बगल के आवारा पसुओं का चारागाह भी उसे कह सकते है लेकिन मा०सुप्रीम कोर्ट के आदेश ने कि ” राष्ट्रीय राजमार्ग से 500 मीटर की दुरी पर ही शराब की दुकाने होनी चाहिये ” ने भारत के अन्य शहरों की तरह गाजीपुर के प्रशासन ने राष्ट्रीय राजमार्ग से दारू की दुकाने हटवा दिया और भुतहियाँ टाँड की दुकाने बसपा कार्यालय ( भुतहियाँ टाँड -विकास भवन मार्ग ) मोहनपुरवा पर सिफ्ट हो गयी। साँम 7 बजे से लेकर रात्रि 10 बजे तक शराब  के सौकीन दुकान से शराब खरीद कर बगल के आर०टी०आई०मैदान मे कंही दो की संख्या मे, कही चार की संख्या मे तो कही -कही आठ या दस की संख्या मे जम जाते है। पुरा मैदान रात मे जन्नत का रूप ले लेता है।