गाजीपुर-कृषि क्षेत्र को बाजार के हवाले कर रही सरकार-ईश्वरी

0
254

गाजीपुर-किसान विरोधी तीनों कृषि कानूनों को रद्द करो, खेती में कम्पनी राज नही चलेगा, खेत खेती किसान बचाओ , कारपोरेट का राज मिटाओ, अन्नदाता किसानो पर दमन नहीं सहेंगे,दमन बंद करो, किसानों से की बात सुनो, आदि नारों के साथ, अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की ओर से कामरेड सरजू पाडेय पार्क में किसान पंचायत किया ।
किसान पंचायत को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय किसान महासभा के राष्ट्रीय सचिव ईश्वरी प्रसाद कुशवाहा, ने कहा कि 40 दिन से बेहद शान्ति पूर्ण ढंग से आन्दोलन दिल्ली बार्डर पर चल रहा है, सरकार द्वारा उन्हें बदनाम करने,उसकाने का और दमन के बलपर कुचल देने की चालों को मात दिया है हर 16 घंटे में एक किसान सहादत दे रहा है अब तक 60 से ज्यादा किसान जान गंवा चुके हैं।इस कानून के लागू होने से किसान का अस्तित्व खत्म हो जाएगा,उनकी जमीन और कृषि बाजार के हवाले हो जायेगी। आजाद भारत में पहली बार, बेलगाम पूंजीवाद और साम्राज्यवादी लूट के लिए, मोदी
सरकार ने खोल दिया है।
किसान सभा के प्रदेश महामंत्री पूर्व विधायक राजेंद्र यादव ने कहा कि 25 सालों में एन सी आर बी के आंकड़ों के अनुसार 4लाख से उपर किसान आत्महत्या कर चुके हैं केवल इस साल 10 हजार से ज्यादा किसानो ने आत्महत्या किए हैं
उन्होंने कहा कि तीनों कृषि कानूनों के लागू होने स दरिद्रीकरण, भूखमरी, क़र्ज़, बेरोजगारी, से 70 करोड़ किसान प्रभावित होंगे, उन्होंने ने किसान विरोधी कृषि कानूनों को रद्द करने, आन्दोलनरत किसानों की मांगों को पूरा करने की मांग उठाई नही तो हजारों हजार की तादाद में दिल्ली कूच करने की चेतावनी दी । बीच में ब्यवधान उत्पन्न करने की पुलिसिया कार्रवाई की निन्दा करते हुए लोकतांत्रिक अधिकारों पर हमला बताया।
किसान पंचायत को भाकपा-माले जिला सचिव रामप्यारे राम,सी पी आई के जिला सचिव अमेरिका यादव, अमरनाथ यादव राघवेन्द्र योगेन्द्र यादव, योगेन्द्र भारती राजेश वनवासी, राजदेव यादव, यादवेन्द्र, नसीरुद्दीन रिहाई मंच के राजू यादव, ने सम्बोधित किया । अध्यक्षता गुलाब सिंह, संचालन जनार्दन राम ने किया। भवदीय-राम प्यारे राम जिला सचिव भाकपा (माले )गाजीपुर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here