गाजीपुर-गोली लगने से कंडक्टर की मौत, रहस्यमय मामला

0
789

गाजीपुर। सदर कोतवाली क्षेत्र के रौजा पर शनिवार की रात बस की कमाई का हिसाब लेने के दौरान संदिग्ध परिस्थितियों में बस मालिक के पुत्र की रिवाल्वर से चली गोली से प्राइवेट बस के कंडक्टर मौत हो गई, जबकि खलासी घायल हो गया। उसे चिकित्सा हेतू अस्पताल में भर्ती कराया गया।घटना की जानकारी होते ही पुलिस मौके पर पंहुच कर शव को कब्जे में लेकर मामले की छानबीन में जुट गई।प्राप्त जानकारी के अनुसार आजमगढ़ जिले के सिधारी थाना क्षेत्र के चकभाई खान गांव निवासी रामकवल यादव आयु 50 वर्ष तीस वर्ष से एक प्राइवेट बस पर कंडक्टर काम करता था। शनिवार की रात करीब साढ़े आठ बजे रौजा पर स्थित मुहम्मदाबाद बस स्टैंड में बस के नीचे हिसाब कर रहा था। इस दौरान खलासी भांवरकोल निवासी विजय गांधी यादव आयु 40 वर्ष भी वहां मौजूद था। हिसाब के दौरान संदिग्ध परिस्थितियों मे लाइसेंसी पिस्टल से गोली चल गई। गोली कंडक्टर और खलासी को लगी। आनन-फानन में दोनों घायलों को लोग एक प्राइवेट अस्पताल में ले गए, जहां डाक्टरों ने रामकवल को मृतक घोषित कर दिया। घायल को जिला अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। उसका उपचार चल रहा है। रात करीब 9 बजे सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में ले लिया। घटना की जानकारी होने पर मृतक के परिवार के लोग भी पहुंच गए। मृतक के बड़े भाई दयाराम ने बताया कि रात में करीब 10 बजे सूचना मिली कि रामकवल की तबियत खराब है। उसको अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मृतक चार भाइयों में तीसरे नंबर पर था। उसकी एक पुत्री और एक पुत्र है। इस संबंध में सदर कोतवाल दिलीप सिंह ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। परिवार की तरफ से अभी तक कोई तहरीर नहीं मिली है। फिर भी गोली किन परिस्थितियों में चली है, इसकी जांच की जा रही है। उधर घटना को लेकर लोगों में चर्चा होती रही कि हिसाब के दौरान बस मालिक के पुत्र की पिस्टल से ही गोली चली। पुलिस ने गोली चलाने वाले व्यक्ति को हिरासत में ले लिया। जबकि कोतवाल का कहना था कि उसकी तलाश की जा रही है। पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह के पीआरओ ने कहा कि इस घटना की जानकारी मुझे नहीं है, कोतवाली पुलिस से बात कीजिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here