गाजीपुर, जब एस०डी०एम०ने हडकाया तो धरना उठाया-आंगनबाडी

गाजीपुर- अपने मानदेय बृद्धि एवं पंजीरी घोंटाले की जांच की मांग को लेकर 22 अक्टूबर से काम बन्द कलम बन्द हडताल कर रही आंगनबाडी कार्यकरतियां एवं सहायिकाओं ने अपनी हडताल कल से स्थगित /समाप्त कर दिया। 20 दिसंबर को उप जिलाधिकारी गाजीपुर के कार्यालय मे राज्य कर्मचारी संयुक्त परिषद साखा गाजीपुर के जिलाध्यक्ष दुर्गेश श्रीवास्तव परिषद के 22 दिसंबर के बाईक जलूस /रैली की परमिशन लेने गये थे उसी समय महिला आंगनबाडी कर्मचारी संघ के मंण्डल संरक्षक जे०सी०तिवरी जी 21 दिसंबर को निदेशक बालविकास सेवा एवं पुष्टाहार के पुतला दहन एवं 22 दिसंबर को जेल भरो आंदोलन की परमिशन लेने पहुंच गये। उप जिलाधिकारी ने उनसे पुछा कि क्या आप का संगठन जो 22 अक्टूबर से धरना-प्रदशर्न कर रहा है उसकी अनुमति शासन , प्रशासन से आप को है । इस पर जे०सी०तिवारी के इन्कार करने पर उपजिलाधिकारी हत्थे से उखड गये और चेतावनी देते हुए कहा कि ” कल से यदि धरना खत्म नही हुआ तो इतना एफ.आई.आर. दर्ज कराऊंगा कि होश ठिकाने आ जायेगा। और फिर क्या था भगे तिवरी धरना खत्म । दुर्गेश श्रीवास्तव से वार्ता पर आधारित

Play Store से हमारा एप्प डाउनलोड करने के लिए क्लिक करें Find us on Play Store