गाजीपुर-जाम के जबाब में एफआईआर

0
469

गाजीपुर- समाजवादी पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल जिलाध्यक्ष रामधारी यादव के नेतृत्व में अपर पुलिस अधीक्षक गाजीपुर से मिलकर थानाध्यक्ष दुल्लहपुर द्वारा समाजवादी लोहिया वाहिनी के जिला सचिव सुनील यादव एवं अन्य नौजवानों को फर्जी मुकदमें में फंसाये जाने पर शिकायत दर्ज कराते हुए तत्काल मुकदमे से नाम हटाए जाने की मांग किया ।
जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने वार्ता के दौरान बताया कि दिनांक 12अक्टूबर को सिखड़ी में एक दुर्घटना में संतोष यादव की मौत हो गई थी जिसके चलते वहां के काफी संख्या में स्थानीय नागरिक एवं समाजसेवी दुर्घटना स्थल पर पहुंच गये । दुर्घटना स्थल पर पहुंचे कुछ लोगों पर पुलिस ने नामजद और 150अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज किया था । जिसमें लोहिया वाहिनी के जिला सचिव सुनील यादव एवं अन्य नौजवानों पर भी आईपीसी धारा141/147/341/336/323/353/427/188/269 व 7क्रिमिनल एक्ट के तहत फर्जी तौर पर मुकदमा पंजीकृत कर उन्हें हैरान व परेशान किया जा रहा है तथा उनका मानसिक एवं आर्थिक शोषण करने का प्रयास किया जा रहा है जबकि उस मामले से सुनिल यादव का दूर दूर तक कुछ भी लेना देना नहीं है और न ही वह दुर्घटना स्थल पर मौजूद ही रहे ।
जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने पुलिस अधीक्षक से तथ्यों की निष्पक्ष जांच कराकर फर्जी रूप से उक्त मुकदमे में दर्ज सुनील यादव का नाम तत्काल हटाये जाने की मांग किया और क्षेत्र के अन्य नौजवानों पर भी फर्जी रूप से फंसाए जाने पर कड़ा एतराज जताया और कहा कि यदि जल्द से जल्द सुनील यादव एवं अन्य फर्जी रूप से फंसाए गये नौजवानों का नाम मुकदमें से वापस नहीं लिया गया तो पार्टी आंदोलन करने को मजबूर होगी ।
इस प्रतिनिधिमंडल में जिलाध्यक्ष रामधारी यादव के साथ पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा, गोपाल यादव, अरुण कुमार श्रीवास्तव, निजामुद्दीन खां, आजाद राय, गुड्डू यादव, कमलेश यादव, सिकन्दर कन्नौजिया, रामचंद्र यादव, ओमप्रकाश यादव,रामनगीना यादव,हरवंश यादव, रामाशीष यादव,राम औतार शर्मा, अशोक यादव आदि उपस्थित थे । क्या कहा थानाध्यक्ष ने-इस संदर्भ में जब थानाध्यक्ष दुल्लहपुर से उनका पक्ष जानना चाहा तो उन्होंने बताया कि इन लोगों ने सडक़ जाम कर रखा था,बार-बार समझने पर भी नहीं मानने पर एफआईआर दर्ज करना पडा।

Leave a Reply