गाजीपुर-जारी है अबैध पैथालॉजी, एक्सरे व हास्पिटल से वसूली

0
335

गाजीपुर-जनपद के अधिकांश सीएचसी और पीएचसी के इर्द गिर्द कई पैथोलॉजी तथा स्थानीय बाजार में बिना मानक के प्राइवेट हॉस्पिटल खोलकर जगह-जगह मरीजों के साथ लूट-खसोट का खेल चल खूलेआम चल रहा है। डॉक्टर भी फिक्स कमीशन के चक्कर में इन बैध/ अबैध पैथालॉजी सेन्टरों को मरीजों की लूट मे भरपूर सहयोग कर रहे हैं। खासकर पैथोलॉजी में जांच के नाम पर मरीजों को जमकर लूटने का खेल चल रहा है। ज्यादातर पैथोलॉजी सेन्टर झोलाछाप अनट्रेन्ड चला रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के लोग भी अपनी आंखें बंद किये हैं। कभी-कभी दिखावे के लिए छापेमारी की कार्रवाई केवल खानापूर्ति के लिये की जाती है। गौरतलब है कि गाजीपुर के स्वास्थ्य विभाग में कुछ ही पैथोलॉजी सेंटर रजिस्टर हैं, 90 % अबैध है। हकीकत में इनकी संख्या जनपद में सैकड़ों से भी अधिक है। यहां पर खुलेआम अल्ट्रासाउंड सेन्टर, एक्स-रे तथा खून की जांच की जाती है। जबकि स्वास्थ्य विभाग द्वारा निर्धारित मानक के अनुसार हर पैथोलॉजी में एक प्रशिक्षित पैथोलॉजिस्ट जरूर होना चाहिए। इसके अलावा जरूरत के मुताबिक प्रशिक्षित लोगों से ही काम करवाना चाहिए, लेकिन यहाँ कोई नहीं हैं। पैथोलॉजी आदि जाँच केन्द्रों से निकले मेडिकल कचरे का निस्तारण भी सही जगह पर नहीं हो रहा है। मरीजों से लूट पर लगाम लगाने के लिए हर जगह जांच की एक रेट बोर्ड होना चाहिए। लेकिन ज्यादातर पैथोलॉजी सेंटर पर कोई रेट बोर्ड का कुछ अतापता नहीं है। डॉक्टरों को मोटा कमीशन देने के फेर में यहां जांच करवाने के लिए आए मरीजों से मनमाना पैसा वसूल रहे हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि सारा काम सेटिंग पर चल रहा है। क्षेत्र के प्राइवेट डॉक्टर तथा एएनएम भी मरीजों को कमीशन के चक्कर में बार-बार जाँच कराने के लिये भेजते रहते हैं। कुछ पैथोलॉजी सेन्टर के कर्मचारी सीएचसी, पीएससी सहित जिला चिकित्सालय मे भी 24 घंटे जमे रहते हैं। इनके मनमाने कार्यों एवं लूटखसोट के बारे में न तो कोई मिडिया पुछने वाला है न कोई विभागीय अधिकारी है। पैथोलॉजी वाले मनमाने ढंग से अपनी मर्जी के मुताबिक काम कर रहे हैं। कई बार तो एक ही दिन में जाँच कराने पर जाँच रिपोर्ट भी भिन्न-भिन्न आती है। जिससे रिपोर्ट की विश्वसनीयता पर भी सवाल खड़ा होता है। लेकिन इस दिशा में विभाग कोई कदम नहीं उठा रहा है। इस संदर्भ में कुछ पैथालॉजी सेन्टर के संचालकों नाम न छापने की शर्त बताया कि शहर के निकट छावनी लाईन में रहने वाला सरकारी डाक्टर कुशवाहा ही इन सभी अबैध पैथोलॉजी सेन्टर, एक्सरे सेन्टर, अबैध हास्पिटल से प्रतिमाह मोटी रकम वसूलता है। लेकिन जनपद का स्वस्थ्य बिभाग सब कुछ जानते हुए भी मौन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here