गाजीपुर-जा रहे थे विहार, हुए गिरफ्तार

0
651

गाजीपुर। सदर कोतवाली पुलिस ने बीते दिनों कोतवाली क्षेत्र में दो एटीएम मशीन को तोड़कर कैश चोरी के मामले का मंगलवार को खुलासा कर दिया। पुलिस आफिस में आयोजित पत्रकार वार्ता में गिरफ्त में आए तीनों अभियुक्तों को पेश करते हुए पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने बताया कि इनके पास चोरी के रुपए सहित बाइक और एटीएम तोड़ने में प्रयुक्त लोहे की राड बरामद की गई है। एसपी ने बताया कि बीते 14/15 अक्तूबर की रात सदर कोतवाली क्षेत्र के महुआबाग में स्थित एक्सीस और सकलेनाबाद चौक के पास स्थित यूको बैंक के एटीएम को तोड़कर चोरी की वारदात हुई थी। चोरों ने सीसीटीवी कैमरा को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया था। विभिन्न धाराओं में मुकदमा पंजीकृत कर क्षेत्राधिकारी ओजस्वी चावला के निर्देशन में पुलिस चोरों की तलाश में जुटी थी। मंगलवार को उप निरीक्षक तरुण श्रीवास्तव, उप निरीक्षक सुनील कुमार तिवारी, उप निरीक्षक बालेंद्र कुमार यादव, कांस्टेबल प्रदीप कन्नौजिया, कां. संजय यादव, कां. नरेंद्र कुमार सुखदेवपुर चौराहा पर मौजूद थे। इसी दौरान मुखबिर से सूचना मिली कि बीते दिनों दो एटीएम में चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले तीनों अपराधी अपाचे बाइक से गाजीपुर से इसी रास्ते से बिहार भागने वाले है। इस सूचना पर पुलिस टीम हरकत में आ गई। कुछ ही देर में बाइक सवार तीन युवक आते दिखाई दिए। पुलिस ने घेरेबंदी कर उन्हें दबोच लिया। एसपी ने बताया कि गिरफ्त में आए करंडा थाना पहाड़पुर गांव निवासी अभियुक्त सत्येंद्र मौर्या के पास से चोरी का 6000 हजार, सदर कोतवाली क्षेत्र के भुटहियाटाड़ निवासी विमलेश कुमार के पास से 7300 और नंदगंज थाना क्षेत्र के बरहपुर गांव निवासी मनीष विश्वकर्मा के पास से 7200 सौ के साथ ही एटीएम तोड़ने में प्रयुक्त लोहे के राड के साथ ही बाइक, हेलमेट तथा मोबाइल बरामद किया गया। पूछताछ में अभियुक्तों ने सदर कोतवाली क्षेत्र में दो एटीएम के साथ ही नंददंज में चोरी की वारदात को अंजाम देना स्वीकार किया। एसपी ने बताया कि अभियुक्तों का संबंधित धाराओं में चालान कर जेल भेज दिया। पुलिस टीम को उत्साहवर्द्धन के लिए मेरी तरफ से दस हजार का पुरस्कार दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here