गाजीपुर-जिला के 539 गांव में नहीं है एक भी गोल्डेन कार्ड

0
202

गाजीपुर। आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत गोल्डेन कार्ड बनाए जाने को लेकर बुधवार को जिलाधिकारी मंगला प्रसाद सिंह की अध्यक्षता में राइफल क्लब में बैठक हुई। इसमें जिलाधिकारी ने जनपद के 539 गांव, जहां अभी तक एक भी गोल्डेन कार्ड नहीं बने हैं, वहां शत-प्रतिशत लाभार्थी परिवार के सदस्यों के गोल्डन कार्ड बनाए जाने के लिए विशेष अभियान चलाने का निर्देश दिया। आयुष्मान भारत योजना के नोडल अधिकारी और एसीएमओ डा. डीपी सिन्हा ने बताया कि जनपद में इस योजना के तहत 1.40 लाख लाभार्थियों के गोल्डन कार्ड बनाए जा चुके हैं। लेकिन जनपद के 539 गांव में अभी तक एक भी गोल्डन कार्ड नहीं बने हैं, जिसके लिए शासन के निर्देश पर एक नवंबर से विशेष गोल्डन कार्ड शिविर लगाया जाएगा। यह गोल्डन कार्ड जनसेवा केन्द्रों (सीएससी) के माध्यम से बनाया जाएगा, जिसके लिए लाभार्थी को प्रति कार्ड 30 रुपये देना होगा। डा. सिन्हा ने बताया कि गोल्डन कार्ड बनाए जाने को लेकर इन गांव में एक परिवार में पांच सदस्य का औसत माना गया है, जबकि बहुत से लाभार्थियों का नाम लिस्ट में शामिल तो हैं, लेकिन उनका निवास गांव में नहीं होने की वजह से उन्हें इस योजना का लाभ अभी तक नहीं मिल पाया है। इन्हें अब इस शिविर के माध्यम से गोल्डन कार्ड बनाकर योजना का लाभ उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने बताया कि गोल्डन कार्ड लाभार्थियों को शिविर तक लाने के लिए आशा कार्यकर्ताओं को लिस्ट उपलब्ध करा दी गयी है, जो लाभार्थियों को गोल्डन कार्ड कैंप तक लाएंगी। आशा को प्रति लाभार्थी 10 रुपये विभाग द्वारा दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि जनपद में आयुष्मान भारत के 1,12,334 लाभार्थी हैं, जबकि मुख्यमंत्री जन आरोग्य अभियान के तहत 11,915 लाभार्थी हैं, जिसके सापेक्ष अब तक 1,40,069 गोल्डन कार्ड बनाए जा चुके हैं। बैठक में सीडीओ श्रीप्रकाश गुप्ता, एसडीएम, एमओआईसी, बीडीओ सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here