गाजीपुर-नारी सुरक्षा का दावा झूठ और फरेब है-विधायक विरेन्द्र यादव

0
266

गाजीपुर। सोमवार को पार्टी कार्यालय समता भवन पर प्रेसवार्ता का आयोजन किया गया। इस मौके पर जंगीपुर विधायक डा. वीरेंद्र यादव ने कहा कि भाजपा सरकार के राज में प्रदेश की बहन-बेटियों की कोई सुरक्षा नहीं है। अपराधियों के समक्ष सरकार ने सरेंडर कर दिया है। आएदिन बच्चियां हैवानियत की शिकार हो रही है। बेटियों की चीख और चीत्कार से पूरा प्रदेश गूंज रहा है। आये दिन समाचार पत्रों की सुर्खियां खूनों से रंगी रहती है। प्रदेश की दरों-दीवारें भी खून के छींटों से रंगी पड़ी है। जिला एवं पुलिस प्रशासन की मौजूदगी में बलिया के दुर्जनपुर गांव में जयप्रकाश पाल की हत्या हो गई। ‌इसके बावजूद सरकार के लोग अपराधियों को सजा देने के बजाय उन्हें बचाने में व्यस्त है। भाजपा सरकार का नारी सुरक्षा का दावा झूठा और फरेब भरा है। योगी सरकार कानून व्यवस्था दुरुस्त रखने में विफल साबित हुई है। हर मोर्चे पर विफल, कलंकपूर्ण भाजपा की योगी सरकार को प्रदेश की गद्दी छोड़ देनी चाहिए। पुलिस थानों में अब न्याय नहीं, दमन हो रहा है। थाने धन उगाही के केंद्र हो गए हैं। आमजन थाने में जाने से घबड़ा रहा है। हत्या को आत्महत्या में बदलने में प्रदेश की पुलिस को महारत हासिल हो गया है। जिलाध्यक्ष रामधारी यादव ने कहा कि प्रदेश की कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। चारों तरफ अराजकता का बोलबाला है। पूरे प्रदेश में जंगल राज व्याप्त हो गया है। प्रदेश में कानून का राज न होकर सत्ता संरक्षित माफियाओं का राज चल रहा है। हाथरस में गैंगरेप का मामला, बलिया जनपद के दुर्जनपुर में जयप्रकाश पाल की हत्या, बलरामपुर में बालिका के साथ हुए दुष्कर्म, बाराबंकी में बालिका के साथ दुष्कर्म, जिले के देवचंदनपुर किसान त्रभुवन की हत्या, जहूराबाद में रामभजनपुर में हुआ लूट का कहानी कहते हुए यह कह रहे हैं कि प्रदेश में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं रह गई है। कहा कि प्रदेश में अपराधी थाना चला रहे हैं और पुलिस उन्हें सलामी ठोंक रही है। योगी सरकार में प्रत्येक दिन 52 महिलाओं के साथ बलात्कार की घटनाएं हो रही है। सपा सरकार के अपेक्षा प्रदेश में सातगुना अपराध बढ़ा है। जनपद के पुलिस थाने अपराध पर अंकुश लगाने की बजाय धन उगाही का केंद्र बन गया है। पुलिस फर्जी मुकदमा दर्ज कर आमजन का आर्थिक एवं मानसिक शोषण कर रही है। प्रदेश की जनता का पुलिस से पूरी तरह से भरोसा उठ गया है। योगी सरकार अपराध रोकने में पूरी तरह से विफल है। अखिलेश जी के राज में जंगलराज बताकर प्रदेश की जनता का विश्वास अर्जित करने वाली भाजपा सरकार प्रदेश की सत्ता पर शआसन करने का नैतिक अधिकार खो चुकी है। प्रेसवार्ता के बाद सपा नेता-कार्यकर्ता भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए पार्टी कार्यालय से सरजू पांडेय पार्क में पहुंचे। पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के आह्वान पर प्रदेश की ध्वस्त कानून व्यवस्था के खिलाफ राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन अतिरिक्त एसडीएम मंशा राम सौंपा। इस अवसर पर पूर्व सांसद जगदीश कुशवाहा, पूर्व सांसद राधामोहन सिंह, पूर्व विधायक विजय कुमार, पूर्व जिलाध्यक्ष राजेश कुशवाहा, पूर्व चेयरमैन सहकारी बैंक रामधारी यादव, राजेश राय, रामयश यादव, राजीव यादव, अमित सिंह लालू, विनोद पाल, आमिर अली, सदानंद कनौजिया, आलोक राम, अभिनव सिंह, सुशील जायसवाल, रामाधार यादव, चन्दन यादव, राजेश गोड़, आजाद राय, ताहिर हुसैन, सत्यनारायन चौहान, राकेश यादव, कृष्णानंद यादव, दिनेश यादव, राहुल सिंह, नन्हे, आजाद कन्नौजिया, सिकन्दर कन्नौजिया, रामाशीष यादव, सुधीर यादव, सदानंद यादव, गोपाल यादव, अरुण कुमार श्रीवास्तव, तहसीन अहमद, निजामुद्दीन खां, कन्हैयालाल विश्वकर्मा, अशोक बिन्द, रामवचन यादव, दिनेश यादव, सत्येन्द्र यादव, राजेंद्र यादव, कमलेश यादव भानू, जयहिन्द यादव, योगेंद्र राय, वृजदेव खरवार, कमलेश यादव, गरीब राम, विभा पाल, रीना यादव आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here