गाजीपुर-नि:संतान होना, हो गया उसका काल

2
6748

गाजीपुर-खानपुर थानाक्षेत्र के श्रृंगारपुर में अमृता राजभर(32) का शव फांसी पर झूलता मिला। पुलिस ने मृतका के शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दी है। छह साल पूर्व अमृता की शादी विनोद राजभर पुत्र हरिलाल के साथ हुई थी। मंगलवार की रात दस बजे दूसरी मंजिल के खाली कमरे में विवाहिता अमृता का शरीर फांसी के फंदे पर लटकता देख पड़ोसियों ने इसकी सूचना पुलिस को दिया। पडोसियों की सूचना पर हरकत मे आई पुलिस ज्यों ही पहुची घरवाले एक-एक कर फरार हो गये। पुलिस ने ग्रामीणों के सहयोग से शव को नीचे उतार कर थाने लेकर आयी।अमृता के भाई मंगला राजभर ने उसके सास-ससुर पति और जेठ-जेठानी पर उसे बार बार दहेज और संतान न होने के कारण प्रताड़ित व परेशान करने का आरोप लगाते हुए थाना मे तहरीर दिया।प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मृतका अम्रिता शरीर पर जगह-जगह चोट के भी निशान थे। खानपुर थानाध्यक्ष पन्नेलाल ने बताया कि मृतका के पीएम रिपोर्ट की जांच पड़ताल कर आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।

2 COMMENTS

  1. ना काहू से दोस्ती ना काहू से बैर, आपकी ये लाइन अच्छी लगी, खुशवंत सिंह जी का आर्टिकल पढ़ते थे हम लोग Dainik Jagran में, समाचार संकलन भी बहुत अच्छा है काफी मेहनत कर रहे हैं आप सब, आभार व्यक्त करते हैं हम तक गाजीपुर समाचार पहुंचाने के लिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here