गाजीपुर-पीडिता की संतुष्टि तक जारी रहेगी कार्यवाही

0
230

गाजीपुर। महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन के उद्देश्य से प्रदेश सरकार द्वारा 17 अक्टूबर से मिशन शक्ति का शुभारम्भ मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा किया गया। जनपद स्तर पर शारदीय नवरात्र से बासंतिक नवरात्र तक चलने वाले इस अभियान का शुभारम्भ मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित जनपद के प्रभारी मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल ने जिला पंचायत सभागार में दीप प्रज्ज्वलित कर किया। तत्पश्चात मंच पर आसीन मुख्य अतिथि एंव विशिष्ट अतिथियों को पुष्प देकर सम्मानित कर उनका स्वागत किया गया। इस मौके पर मुख्य अतिथि प्रभारी मंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने नारियों के सम्मान के लिए आज मिशन शक्ति का शुभारम्भ किया है। आज हमे समाज में महिलाओं के प्रति सोच को बदलने की जरूरत है, तभी समाज में नारियों के प्रति सम्मान की क्षमता विकसित होगी। हमे अपने विचारो में परिवर्तन लाते हुए समाज में फैली कुरीतियों को समाप्त करना है। कहा कि जहां नारियों की पूजा होती है, वहां देवताओ का वास होता है एवं जहा अपमान होता है, वहां जो भी शुभ कार्य होना होता है, वह नष्ट हो जाता है। आज के दौर में महिलाओ को आगे लाने की जरूरत है ताकि वे अपने जीवन के पथ पर अग्रसर हो। विधान परिषद सदस्य विशाल सिंह चंचल, विधायक मुहम्मदाबाद अलका राय, विधायक जमानिया सुनीता सिंह, विधायक सदर संगीता बलवंत, शासन द्वारा नामित जनपद की नोडल अधिकारी अर्चन गहरवार सदस्य सचिव, राज्य महिला आयोग लखनऊ, पुलिस अधीक्षक डा. ओमप्रकाश सिंह ने महिलाओं तथा बालिकाओ की सुरक्षा व सम्मान के लिए मिशन शक्ति के संबंध अपना-अपना विचार व्यक्त करते हुए नारी सुरक्षा सम्मान के प्रति संकल्प लिया। जिलाधिकारी एम.पी. सिंह ने मिशन शक्ति के संबंध में कराए जाने वाले कार्यों के संबंध में विस्तार पूर्वक बताते हुए कहा कि महिलाओं एवं बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन तथा महिला अपराध व बाल अपराध के संबंध में जागरुकता पैदा करने के लिए प्रत्येक सप्ताह कार्यक्रम भी आयोजित जायेंगे। यह कार्यक्रम जनपद में 180 दिनो तक गतिमान रहेगा। इस अभियान के दौरान जनपद में महिलाओं एवं बालिकाओं को आत्मनिर्भर बनने का प्रशिक्षण, सुरक्षा एवं सम्मान के प्रति जागरूकता प्रदान किया जायेगा। प्रथम चरण में इस अभियान को जागरूकता आधारित रखते हुए द्वितीय चरण में मिशन शक्ति के इन्फोर्समेंट (क्रियान्वयन) पर बल दिया जायेगा। कहा कि सभी संबंधित विभाग कन्वर्जेन्स मॉडल के माध्यम से इस विशेष अभियान में सहयोग प्रदान करेंगे। कहा कि इस विशेष अभियान में एक समिति बनाकर विभिन्न रोल मॉडल का चयन किया जायेगा। इसमें ऐसी महिलाओं एवं बालिकाओं का चयन किया जाएगा, जो कि विभिन्न क्षेत्रों में समाज के लिए एक प्रेरणा बनी है। उदाहरण स्वरूप ऐसी महिलाएं एवं बालिकाएं, जिन्होंने विभिन्न क्षेत्रों जैसे महिला सशक्तिकरण, भ्रूण हत्या रोकने संबंधीअभियान, उद्यमिता, शिक्षा, महिला अपराध रोकने आदि इन क्षेत्रों में सफलता पाकर जनपद के लिए रोल मॉडल बनी हैं, उनका चयन रोल मॉडल के लिए किया जाएगा। इसके अतिरिक्त लैंगिक आधारित संवेदीकरण, ध्वनि संदेश, साक्षात्कार, प्रशिक्षण, थानों पर कार्यक्रम तथा ग्रामीण स्तर पर जागरूकता उत्पन्न किए जाने संबंधी कार्यक्रम आयोजित किये जायेंगे। उन्होने कहा कि महिलाओं में स्वावलम्बी बनने की प्रकिया को बढ़ाई जायेगी। विभिन्न विभागों द्वारा विभिन्न स्तरों पर शासन द्वारा महिलाओं एवं बालिकाओं के लिए चलाई जा रही योजनाओं में लाभार्थियों का चयन एवं प्रशिक्षण के कार्यक्रम कराए जायेंगे। विभिन्न विभागों की योजनाओं की जानकारी प्रदान किए जाने के लिए महिलाओं, बालिकाओं के जागरुकता शिविर आयोजित कर उन्हें इन कार्यक्रमों के लाभों के संबंध में अवगत कराया जायेगा। कहा कि महिला एवं बाल अपराध की मॉनिटरिंग के लिए जनपद स्तर पर कमेटी सक्रिय रहेंगे। नारी सुरक्षा से संबंधित समस्त विभागों द्वारा यह सुनिश्चित करना होगा कि प्राप्त शिकायतों में पीड़िता शिकायतकर्ता की पूर्ण संतुष्टि के स्तर तक कार्यवाही को गतिमान रखा जाए। इसी तरह पुलिस विभाग के अन्तर्गत 1090 एवं यूपी 112 द्वारा एक साथ मिलकर पीड़ित की शिकायतों का प्रभावी ढंग से निस्तारण सुनिश्चित कराया जायेगा और पीड़ित महिला, बालिका की संतुष्टि तक कार्यवाही जारी रखी जायेगी। जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक थाने में महिला हेल्प डेस्क स्थापित किया जाना एक अच्छी पहल है, जो स्थापित किये है तथा इसको व्यापक स्तर पर सुदृढ़ किया जायेगा। प्रत्येक थाने में एंटी रोमियो स्क्वाड द्वारा अभियान चलाते हुए शोहदो पर कार्यवाही की जायेगी। साथ ही व्यापारिक प्रतिष्ठान, बैंकिंग संस्थान, चिकित्सालय व अन्य सार्वजनिक संस्थाओं में होने वाली जनसामान्य के एकत्रित होने के दृष्टिगत अभियान की कार्ययोजना/संचालन सुनिश्चित कराया जायेगा। कार्यक्रम के अन्त में प्रभारी मंत्री ने उपस्थित लोगों को माता-पिता एवं पुरूषों द्वारा एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में रहने के लिए सुरक्षा शपथ दिलाई तथा मिशन शक्ति में प्रचार-प्रसार के लिए लगे एलईडी वैन को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया, जो शहर एवं कस्बों के विभिन्न क्षेत्रों में जाकर नारी सुरक्षा सम्मान के प्रति लोगो में जागरूकता पैदा करेगी। तत्पश्चात जिला महिला चिकित्सालय पहुचकर 100 बेड महिला चिकित्सालय भवन के निर्माण के लिए भूमि पूजन किया। कर्यक्रम में नेहरू युवा केन्द्र के वालेन्टियरों द्वारा नाटक प्रस्तुति तथा सांस्कृतिक कलाकर राकेश कुमार के गीत उपस्थित आगन्तुको के मनमोहक का केन्द्र रहा। कार्यक्रम समापन पर मुख्य विकास अधिकारी श्रीप्रकाश गुप्ता ने उपस्थित मुख्य अतिथि एवं अन्य विशिष्ट अतिथियों का आभार व्यक्त किया। संचालन नेहरू युवा केन्द्र के एसीटी सुभाष प्रसाद ने किया। इस अवसर पर आशा, आंगबाड़ी कार्यकर्ता, महिला पुलिस, जिला कार्यक्रम अधिकारी डी.के. पांडेय, मुख्य चिकित्साधिकारी जीसी मौर्य, जिला प्रोबेशन अधिकारी अनिल सोनकर एवं अन्य जनपद स्तरीय अधिकारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here