गाजीपुर-पुर्व राष्ट्रपति की जयंती पर बिचार गोष्ठी का आयोजन

0
450

गाजीपुर-जखनियाँ क्षेत्र के पंडित सत्यदेव वासुदेव इंटर कॉलेज कुडिला गाजीपुर में हिंदुस्तान स्काउट गाइड के तत्वाधान में पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम के जन्मदिवस को ‘छात्र दिवस’ के रूप में मनाया गया और ‘भारत के निर्माण में मेरी भूमिका’ विषय पर गोष्ठी हुई। इसमें वक्ताओं ने बच्चों को शिक्षित करने पर जोर दिया। गोष्ठी के मुख्य अतिथि पारसनाथ राय (जिला सह संघचालक ) ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति डाँ एपीजे अब्दुल कलाम का जन्म 15 अक्टूबर 1931 को तमिलनाडु के रामेश्वरम के एक गांव में हुआ था।इनके जीवन चरित्र पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मिसाइल मैन तमाम अभावों और असुविधाओं के बीच कड़ी लगन और मेहनत के साथ शिक्षा हासिल कर देश का नाम रोशन किया,वही उनके जीवन से प्रेरणा लेने की अपील की। तदुपरांत विद्यालय के प्रधानाचार्य सर्वेश पांडेय जी ने कहा कि बच्चे हमारे देश के भविष्य हैं, हमें बच्चों को शिक्षा देकर आगे बढ़ाना चाहिए। इसी क्रम में रजवंता इंटर कॉलेज जखनिया में भी पूर्व राष्ट्रपति का जन्मदिन छात्र दिवस के रूप में मनाया गया। कार्यक्रम के संयोजक आनंद मिश्रा ने अपने संबोधन में कहा कि हमें मिसाइल मैन पर गर्व है।उन्होंने देश का नाम रोशन किया और 2002 में राष्ट्रपति बनने के बाद भी उनके दरवाजे सदा आमजन के लिए खुले रहते थे।कई पत्रों का जवाब स्वयं अपने हाथों से लिख कर देते थे।अंत में जिला संगठन आयुक्त अरविंद कुमार यादव ने भी कहा कि इस पीढ़ी के लिए डॉ एपीजे अब्दुल कलाम प्रेरणा स्रोत के रूप में हैं और कलाम को विद्यार्थियों के प्रति विशेष प्रेम रहता था जिसे देखकर संयुक्त राष्ट्र ने उनके जन्मदिन को ‘विद्यार्थी दिवस’ के रूप में मनाने का निर्णय लिया। इस मौके पर प्रधानाचार्य गंगासागर गिरी,मुसाफिर यादव,दीपक कुमार,राजेंद्र पांडेय,राजेश,तनुजा चौबे,हरिओम सिंह,अनीस सिंह,आरती देवी,कुमारी मोनाली पांडेय आदि लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here