गाजीपुर-फर्जी सार्टिफिकेट प्रमाणित लेकिन सेवा मे बहाल

0
305

गाजीपुर-दिलदार नगर निवासी महेंद्र सिंह ने जिलाधिकारी गाजीपुर को पिछले 11 दिसंबर 2019 को एक शिकायत पत्र सौंपा जिसमें उन्होंने रक्सहां ग्राम मे तैनात आंगनवाड़ी कार्यकर्ता बसंती देवी पर फर्जी शैक्षिक प्रमाण पत्र लगाकर नौकरी प्राप्त करने का आरोप लगाया। महेंद्र सिंह के शिकायती प्रार्थना पत्र पर जिलाधिकारी ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को कार्यवाही करने का निर्देश दिया लेकिन कई महीने बीत जाने के बाद भी जब इस प्रकरण पर कोई कार्यवाही नहीं हुआ तो इसके बाद महेंद्र सिंह 13 जनवरी 2020 को जनता दर्शन में जिलाधिकारी से शिकायत किया।जिलाधिकारी के निर्देश पर बाल विकास परियोजना अधिकारी 28 जनवरी 2020 को पूर्व माध्यमिक विद्यालय कुसी के प्रधानाध्यापक को बसंती देवी का अंक पत्र व स्थानांतरण प्रमाण पत्र जांच के लिए भेजा।एक बार फिर मामला जस का तस रहने पर महेंद्र सिंह ने 8 जुलाई 2020 को फिर से उच्चाधिकारियों से लगायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर इस बात की शिकायत की।इसके बाद विभाग ने जांच प्रक्रिया को आगे बढ़ाया।इसके बाद पूर्व माध्यमिक विद्यालय कुसी के प्रधानाध्यापक ने लिख कर दिया कि बसंती देवी का प्रस्तुत प्रमाण 1993 में हमारे यहां से निर्गत नहीं है और ना ही उस पर अंकित हस्ताक्षर इस विद्यालय की किसी प्रधानाध्यापक के हैं। महेंद्र का आरोप है कि फर्जीवाड़ा साबित होने के बाद भी विभाग ने बिना कोई कार्यवाही किए गलत तरीके से मुख्यमंत्री पोर्टल पर फर्जी निस्तारण रिपोर्ट लगा दिया। महेंद्र सिंह इस बात की भी मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत की और बताया कि बसंती देवी का मानदेय आधारित सेवा समाप्त समाप्त किए जाने की कार्यवाही नहीं जा रही है। इस संदर्भ में जब दिलीप कुमार पांडे जिला कार्यक्रम अधिकारी से जानना चाहा गया तो उन्होंने बताया कि बसंती देवी को नोटिस देकर उनके सभी शैक्षिक प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने को कहा गया था लेकिन वह दूसरा प्रमाण पत्र दिखा रही हैं।ऐसे मे उनकी सेवा विभाग समाप्त करने जा रहा है, पत्रावली तैयार की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here