गाजीपुर-बालू माफिया सत्ता व विपक्ष से जूडे है

0
498

गाजीपुर- जनपद के बालू माफियाओं के आगे शासन सत्ता विफल होता दिखाई दे रहा है। जनपद के बालू माफियाओं के पीछे कौन सी ताकत है कि अच्छे खासे थानाध्यक्ष सुहवल हो या रजा़गंज चौकी इंचार्ज हो बौना बन जाते हैं।हकिकत की तह में जाने पर पता चला की बालू के अवैध परिवहन के खेल में सत्तारूढ़ दल के कुछ ताकतवर लोग शामिल है तो विपक्षी पार्टी के लोग भी इस अवैध कारोबार में किसी से पीछे नहीं है ।गाजीपुर की जीवन रेखा हमीद सेतु का बार बार क्षतिग्रस्त होना और बार- बार जिला प्रशासन द्वारा भार सीमा निर्धारित करने के बाद भी ओवर लोड बालू लदे ट्रकों / अबैध बोगा ट्रक्टरों का अवैध परिवहन सदैव जारी रहा है और सदैव जारी रहेगा क्योंकि इस अवैध परिवहन के पीछे सत्तारूढ़ दल के कुछ तथाकथित इमानदार नेताओं का हाथ है। सत्ता पक्ष से जूडे ताकतवर लोग इस अवैध कारोबार से जुडे हुए है तो विपक्ष के लोग भी अवैध कारोबार से जुड़े हुए है। अब सवाल इस बात का है कि सत्तापक्ष से जुड़े बालू माफियाओं को दंडित करने का कार्य कौन करेगा ? सत्ता पक्ष के बालू माफियाओं को यदि प्रशासन दंडित नहीं कर सकता हैं तो फिर विपक्षी दल के लोग भी प्रशासन की इसी मजबूरी का फायदा उठा रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here