गाजीपुर-भयंकर अग्निकांड में 20 लाख से अधिक का सामना स्वाहा

0
297

गाजीपुर-सैदपुर तहसील क्षेत्र में फायर ब्रिगेड न होने का दंश सैदपुर के व्यापारियों को लाखों के नुकसान से चुकाना पड़ा। नगर के नई सड़क स्थित सब्जी मंडी में सोमवार की रात में मोमबत्ती से आग लगने से सब्जियों के करीब 20 आढ़त जलकर राख हो गए। जिससे उसमें रखी 20 लाख से अधिक कीमत की सब्जियां राख हो गईं। नई सड़क स्थित सब्जी मंडी के अंदर आखिरी छोर पर दर्जनों की आढ़त है। रोज की तरह उसमें संभवतः किसी आढ़ती ने बंद करने से पूर्व पूजा की और मोमबत्ती जलाकर घर चले गए। लोगों के अनुसार, उसी मोमबत्ती से फैली आग ने पहले एक आढ़त को जद में लिया और देखते ही देखते आग ने विकराल रूप ले लिया। जिससे लोगों को इसी साल मुख्य बाजार में हुई भयावह व जानलेवा रजनीश झुनझुनवाला अगलगी कांड की याद आ गई। जिसके बाद सब्जी मंडी के दुकानदारों व आस पास के लोगों ने आग पर काबू पाना शुरू किया। इधर मौके पर पहुंची पुलिस मूकदर्शक बनी रही। घटना के बाद नगर पंचायत का टैंकर पहुंचा तो उससे भी पानी का छिड़काव किया गया लेकिन आग रात साढ़े 10 बजे तक लगी रही। घटना में मिठाई सोनकर, मुन्ना सोनकर, संजय, रामा सोनकर, काटू सोनकर, विनोद सोनकर, जयराम सोनकर, बबलू सोनकर, पंचम सोनकर, छब्बन सोनकर, सोआ सोनकर, अभिमन्यु सोनकर आदि की करीब 20 लाख रूपयों से अधिक कीमत के आलू, प्याज, लहसुन समेत अन्य सब्जियां जलकर राख हो गए। गौरतलब है कि सैदपुर क्षेत्र में एक फायर ब्रिगेड एजेंसी पूरी तरह से प्रस्तावित है लेकिन कुछ मामूली कार्यों से वो रूकी पड़ी है। कई जनप्रतिनिधि उसे शुरू कराने का आश्वासन दे चुके हैं लेकिन अब तक नतीजा ढाक के तीन पात से ज्यादा कुछ नहीं है। लोग चर्चा कर रहे थे कि अगर सैदपुर में फायर ब्रिगेड होती तो शायद ये नुकसान इतना बड़ा न होता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here