गाजीपुर-यात्रियों का शोषण, प्रशासन मौनीबाबा

0
335

गाजीपुर- निजी बस संचालकों द्वारा कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन न करने एवं मनमाना किराया वसूली से यात्रियों में आक्रोश है। कोविड-19 के गाइडलाइन के साथ बीते माह से बसों के संचालन का आदेश सरकार द्वारा जारी किया गया था। जिसका फायदा उठाते हुए बस संचालकों ने कम यात्रियों को ही बसों में यात्रा कराने के नाम पर किराया बढ़ाकर डेढ़ गुना से भी अधिक कर दिया। लेकिन यात्रियों की संख्या, मास्क व शारीरिक दूरी का पालन कराना भूल गए। जिससे अब भी कोरोना काल के पूर्व की तरह ही बसों में ठसाठस स्टैंडिंग सवारिया देखने को मिल रही हैं। जिससे संक्रमण की आशंका से इंकार नहीं किया जा सकता है। बहरियाबाद से वाराणसी, गाजीपुर, चिरैयाकोट, जीयनपुर, दोहरीघाट आदि जगहों को जाने के लिए दर्जनों प्राइवेट बसें संचालित हो रही है। कोरोना काल में बहरियाबाद से 60 किमी दूर वाराणसी का किराया 60 रूपए से बढ़ाकर 90-100 रूपए व 22-22 किमी दूर सैदपुर व चिरैयाकोट का किराया 20 से बढ़ाकर 40 से 50 रूपये तक वसूला जा रहा है। लेकिन जिस बहाने से ये बढ़ा हुआ किराया वसूला जा रहा है वो वजह यानी यात्रियों की सीमित संख्या व शारीरिक दूरी का पालन नहीं किया जा रहा है। क्षेत्रीय यात्रियों ने जिलाधिकारी सहित संबंधित विभाग के उच्च अधिकारियों का ध्यान आकृष्ट कराते हुए मनमाने किराये पर अंकुश लगाने व सरकार के गाइडलाइन के नियमों का पालन कराने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here