गाजीपुर-लफंटू उम्मीदवारों से दिग्गज परेशान

गाजीपुर-पूरी दुनिया में एक विशेष प्रजाति के जंतु पाए जाते हैं। इस जंतु को आम बोलचाल की भाषा में लफंटू कहते हैं।यह दो पाया ,चार पाया सभी में पाए जाते हैं। शिक्षकों में भी पाए जाते हैं, पत्रकारों में भी पाए जाते हैं, व्यापार और नौकरशाहा,राजनीति मे भी पाये जाते है।यह अपने फायदा के बारे मे कम दुशरे के नूकसान के बारे मे अधिक सोचते है। वर्तमान समय में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव चल रहा है। इस चुनाव में भी लफंटू प्रजाति के जीवो का प्रकोप कोरोना से ज्यादा है फैला हुआ है।पूर्व प्रधान ,वर्तमान प्रधान और गंवई राजनीति के मठाधीश भी लफंटू प्रजाति के उम्मीदवारों से काफी परेशान।लफंटू चुनाव जीतेंगे या हारेंगे यह तो बाद की बात है लेकिन इतना तय है कि इनके द्वारा फैलाये गये रायता से 100 % अपनी जीत के प्रति आश्वस्त उम्मीदवारों की रात की नीद और दिन का चैन हराम हो गया है। लफंटू भाई दुशरे का चाय नास्ता कर के अपने चुनाव प्रचार मे मस्त और व्यस्त है।ध्यान से आप अपने गांव मे देखिए अधिकतम 25 या 50 ओट पाने वाले लफंटू उम्मीदवारों को लेकर गंवई राजनीति के मठाधीश किस कदर परेशान है।इन मठाधीशों का बस चले तो इन्हें कच्चा चबा जायें।चुनाव का माहौल इतना नाजुक होता है कि विजय के करीब खडे प्रत्याशी की छोटी सी गलती सब सत्यानाश कर देती है।

Also Read:  गाजीपुर-जिलाधिकारी नें लगाया चंदन