गाजीपुर-शहीदों की घरती को सलाम-मंत्री अनिल राजभर

0
312

गाजीपुर। जम्मू कश्मीर के उधमपुर जिले के धामकुंड श्रीनगर मे 3 जनवरी 2004 को  देश की रक्षा मे शहीद पुलिस मेडल से मरणोपरांत सम्मानित सीमा सुरक्षा बल के जवान निरंजन राजभर की 18 वीं शहादत दिवस पर विरनो ब्लाक परिसर मे आयोजित कार्यक्रम मे भाग लेते हुए उत्तर प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री अनिल राजभर ने कहा की आजादी के 74 वर्ष बाद देश मे शहीदों के नाम पर स्मारक हो यह सोच प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के अलावा किसी अन्य नेता ने नहीं की, हम इस पुण्य पुनीत कार्य के लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देता हूँ।मंत्री ने कहा की गाजीपुर बलिदानियों की धरती है पुरे देश को यहाँ के मिट्टी पर गर्व है।किसी के शहादत के नाम पर  कुछ मांगना उस शहीद का अपमान है।उन्होंने शहीद के शहादत को जीवन की सार्थकता बताया।पुर्व की सरकारों की समाज को बाटकर राजनीति करने की नितियों को कोसते हुए उन्होंने नकस्लवाद के लिए कम्युनिस्ट पार्टी तथा आतंकवाद के लिए पाकिस्तान को दोषी ठहराया।उन्होंने कहा की जम्मू कश्मीर मे धारा 370 एवं 35 ए के समाप्ति के बाद से वहाँ  पर शहादत कम हो गयी है और हमारे सैनिकों का मनोबल काफी उंचा हो गया है।मंत्री ने कहा की  बाबा साहब भीमराव  अम्बेडकर को भारत रत्न देने का काम भाजपा सरकार ने किया है यह बहुत बडा फैसला है।उन्होंने राजभर समाज से कहा की हमारा उत्पीड़न और हमारे उपर अत्याचार न हो इसके लिए हमें किसी को मौका नहीं देना चाहिए। इस अवसर पर मंत्री अनिल राजभर एवं अन्य ने शहीद के आदमकद प्रतिमा पर माल्यार्पण एवं पुष्पांजलि अर्पित किया तथा  शहिद की पत्नी किस्मती देवी का माल्यार्पण कर सम्मानित किया। कार्यक्रम मे भाजपा के पुर्व जिलाध्यक्ष प्रभुनाथ चौहान,डा रमाशंकर राजभर, रमेश सिंह पप्पू,भाजयुमो क्षेत्रीय अध्यक्ष राजेश राजभर, योगेश सिंह,जिला मीडिया प्रभारी शशिकान्त शर्मा,दीपक सिंह,अनिल राजभर, हरेन्द्र यादव, शिवानन्द राय,शिवप्रताप सिंह,मयंक जायसवाल,संतोष सिंह,रूद्र प्रताप सिंह सहित आदि अन्य लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम की अध्यक्षता सेवा निवृत्त सुबेदार मुखदेव राजभर एवं संचालन  रामनरायन राजभर ने किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here