गाजीपुर-सब इंस्पेक्टर पर रिस्वत मांगने का आरोप

0
508

गाजीपुर-करीमुद्दीनपुर थाना क्षेत्र के स्थानीय गांव निवासी संजय वर्मा का अपनी पत्नी से काफी दिनों से विवाद चल रहा है। पति-पत्नी का यह विवाद न्यायालय तक जा पहुंचा है। पिछले दिनों संजय की पत्नी उसके घर पहुंचकर जमकर हंगामा किया,जिस पर संजय ने 112 नंबर पर डायल कर पुलिस को मौके पर बुलाया और अपनी आपबीती सुनाई और पुलिस को बताया कि हम दोनों का विवाद कोर्ट में चल रहा है। जब दोनों के बीच चल रहे विवाद की जानकारी सब इंस्पेक्टर योगेंद्र पाल को हुई तो एसआई साहब ने संजय वर्मा को थाने बुलाया और संजय को पूरी रात बगैर किसी लिखा पढ़ी के बिठाए रखा। अगले दिन संजय ने जब अपने को छोड़ने या फिर चालान करने की बात दरोगा के सामने रखी तब योगेंद्र पाल ने उसे चालान करने के लिए दो हजार और छोडऩे के लिए 10 हजार रूपये की डिमांड की और कहा कि तुम्हारी पत्नी के मामले में हम ही को लिखना है यदि हम तुम्हारे बारे में लिखा पढ़ी कर देंगे तो तुम्हें हाईकोर्ट से भी जमानत नहीं मिलेगी। इस तरह बिना कसूर के 18 से 20 घंटे संजय को थाने में बैठाए रखा गया।बातचीत के दौरान संजय ने दरोगा की पूरी बात को अपने मोबाइल में रिकॉर्ड कर लिया और फिर उस ऑडियो को वायरल कर दिया। इसके पश्चात न्याय की गुहार लगाने के लिए पुलिस अधीक्षक से मिला। सब इंस्पेक्टर योगेंद्र पाल के द्वारा अवैध रूप से पैसा मांगने का यह कोई नया मामला नहीं बल्कि 1 वर्ष पूर्व मोहम्मदाबाद थाने में तैनाती के दौरान भी युवक अमित गुप्ता से पैसे की वसूली की बात किया था जिसकी उसने शिकायत पुलिस अधीक्षक समेत डीजीपी और मुख्यमंत्री कार्यालय को भी किया है। जब इस पूरे मामले पर पुलिस अधीक्षक डॉक्टर ओम प्रकाश सिंह बातचीत की गई तो उन्होंने बताया कि इस मामले की जानकारी उन्हें भी मिली है और उन्होंने इसकी जांच के लिए सीओ मोहम्दाबाद को मामला सौंप दिया है।वैसे सब इंस्पेक्टर साहब का तबादला आजमगढ़ मंडल में हो चुका था जिसे इस घटना की जानकारी के बाद तत्काल तैनाती स्थल के लिए रवाना भी कर दिया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here