गाजीपुर-सरकार पर खुब गरजे माले नेता

161

गाजीपुर-भाकपा (माले) के देशव्यापी जन आन्दोलन को जमानिया मे प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए ईश्वरी प्रसाद कुशवाहा ने कहा,देश भर के किसान तीन काला कानूनो के खिलाफ, विजली बिल 2020 माफ करने, 2021 तक वसूली पर रोक लगाने ,समेत कम्पनीराज के खिलाफ ,लाखो की तादात में दिल्ली कूच कर रहे है।मोदी सरकार और खट्टर सरकार उनकी माॅगो को सुनकर हल करने के बजाय दमन पर उतारू है। भाकपा (माले) किसान संगठन के गिरफ्तार नेताओ को तत्काल रिहा करने की माॅग करते है, उन्होने कहा कि सरकार कागजों मे धान खरीद रही है जिले मे कहीं भी क्रय केन्द्र नही खोला गया। इससे खाद्य सुरक्षा के लिए गंभीर खतरा पैदा हो गया है. किसान क्रय केंद्र न खुलने से एक हजार रूपया कुन्तल धान बेचने को मजबूर है जबकि सरकारी न्यूनतम समर्थन मूल्य 1868 प्रति कुन्तल है। एम एस पी से कम दाम पर खरीद करने वालो को दंडित करने की माॅग उठाई ।
उन्होने कहा कि रिकार्ड तोड़ बेरोजगारी,व कमरतोड़ मॅहगाई के बीच मोदी सरकार के 4 श्रम कोड कानूनो ,कम्पनी राज नीजीकरण और देश के संसाधनों को बेचने तथा संविधान और लोकतंत्र पर हमले के खिलाफ ,खेती किसानी छीन लेने और देश मे खादय असुरक्षा पैदा करने वीले तीन काले कानूनो को रदद करने की माॅग उठाई।
जखनियां में जिलाध्यक्ष गुलाब सिंह ने प्रदर्शन को सम्बोधित करते हुए कहा कि तहसील के गोदाम मे अनाज सड़ गया, उसमे जब कीडे़ पड़ गये तो गरीबो को खाने के लिए दिया गया।योगी सरकार के अधिकारियो मे मानवता नाम की चीज नही रह गई है।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries