गाजीपुर-सरोजिनी नायडू महिलाओं के लिए प्रेरणास्रोत-कै०प्रियंका सिंह

0
465

राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर हिन्दुस्तान स्काउट गाइड एसबीडीएस इण्टर कालेज महेशपुर कासिमाबाद में एकदिवसीय महिला सशक्तिकरण कार्यक्रम का आयोजन किया गया था तथा स्काउट प्रमाणपत्र वितरित किया गया। गाइड कैप्टन प्रियंका सिंह ने सरोजिनी नायडू को श्रद्धान्जली दी।और कही नायडू देश की महिलाओं के लिए एक प्रेरणा हैं।देश में आज राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जा रहा है।भारत में हर साल 13 फरवरी को स्वतंत्रता आंदोलन में प्रमुख भूमिका निभाने वाली स्वतंत्रता सेनानी सरोजिनी नायडू की जयंती को राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है।वे हमारे देश की महिलाओं के लिए एक प्रेरणा हैं।सरोजिनी नायडू एक स्वतंत्रता आंदोलन की एक राजनीतिक कार्यकर्ता होने के साथ-साथ कवियत्री भी थीं। उन्हें भारत कोकिला (नाइटिंगेल ऑफ इंडिया) कहा जाता है। वे देश की पहली महिला राज्यपाल भी रही। ब्रिटिश सरकार के खिलाफ भारत के स्वतंत्रता आंदोलन में उनकी सक्रिय भूमिका और दूसरे कार्यों के लिए सम्मानित करने के लिए उनकी जयंती को देश में राष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है।आज उनकी 142वीं जयंती मनाई जा रही है प्रधानाचार्य पारसनाथ यादव ने भात कोकिला को नमन किया और कहा कि श्रीमती सरोजिनी नायडू का जन्म 13 फरवरी,1879 को हैदराबाद में हुआ।उन्होंने कैंब्रिज यूनिवर्सिटी से उच्च शिक्षा हासिल की।इसके बाद वे देश में चल रहे स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल हो गईं और कई बार जेल गई 1925 में उन्हें भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अध्यक्ष बनाया गया 1942 में भारत छोड़ो आंदोलन के दौरान नायडू करीब 21 महीने तक जेल में रहीं।इस मौके पर अरविन्द कुमार यादव,नितीश यादव,रामचीज,रुपचन्द्र आदि लोग उपस्थित रहे। रिपोर्टर-अरविंद यादव

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here