गाजीपुर-सीएमओ कार्यालय की वायरल तस्वीर का सच

0
563

गाजीपुर- सोशल मीडिया पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय की वायरल एक तस्वीर से जनपद में हंगामा मच हुआ है। वायरल तस्वीर में डब्लूएचओ का एक कर्मचारी कुर्सी पर बैठकर शराब पीता नजर आ रहा है जबकि कुर्सी के सामने ही ईट के चूल्हे पर मटन पक रहा है। वायरल तस्वीर में अन्य लोग भी दिखाई दे रहे हैं। इस वायरल तस्वीर को लेकर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने जिलाधिकारी के निर्देश पर कड़ा एक्शन लेते हुए एक जांच समिति का गठन किया है। इस जांच समिति के सदस्य अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी उमेश कुमार, उप मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर प्रगति कुमार फोटोग्राफर कम आर्टिस्ट कार्यालय अजय भारती शामिल है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय ने जांच कर अपनी जांच आख्या 5 दिन के अंदर जांच समिति को प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी के इस फरमान से कर्मचारियों में हड़कंप मचा हुआ है। इसके साथ ही सीएमओ ने द्वितीय तल पर स्थित डब्ल्यूएचओ कार्यालय को 1 सप्ताह के अंदर खाली करने का निर्देश भी दिया है।

कर्मचारियों की आपसी गुटबाजी-मुख्य चिकित्साधिकारी कार्यालय मे कार्यरत कर्मचारियों मे आपसी गुटबाजी काफी चरम पर है।वायरल तस्वीर किसने मिडिया को उपलब्ध कराया ? सोशल मीडिया में तस्वीर को किसने और किस मकसद से वायरल कराया है ? यह भी एक जाँच का बिषय है।डब्ल्यू एचओ के सभी कर्मचारी संविदा पर है और अवैध कमाई अकूत है जिससे सीएमओ कार्यालय के स्थाई राज्य कर्मचारी काफी जलते है।कुछ भी हो तस्वीर वायरल कराने वाला कर्मचारियों का गुट कफी खुश और अपने मकसद मे कामयाब भी होता दिखाई दे रहा है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों में व्यापत गुट बंदी और एक दूसरे की टांग खिंचाई करने की पुरानी परंपरा भी है, तो कहीं ना कहीं तस्वीर को वायरल कराने में मुख्य चिकित्सा अधिकारी कार्यालय के बाबूओं का ही तो हाथ नहीं ? यह भी एक जांच का विषय है।

Leave a Reply