गाजीपुर-सड़क पर मनरेगा मजदूर

0
377

गाजीपुर। एक तरफ लाकडाउन में प्रवासी व अन्य मजदूरों को गांव में ही मनरेगा योजना के तहत समय-समय काम देने व उनके मजदूरी का समय पर भुगतान को लेकर सरकार जहां फिक्रमंद है। वहीं अधिकारी इसके प्रति पूरी तरह से उदासीन बने हुए है। सुहवल थाना क्षेत्र के पटकनिया गांव के दर्जनों महिला-पुरुष मनरेगा मजदूरों ने मजदूरी का भुगतान न होने पर युवराजपुर-पटनिया मुख्य मार्ग पर शुक्रवार को दिन में हाथों में जाब कार्ड लेकर प्रदर्शन किया। चेतावनी दिया कि समय रहते भुगतान नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन करने को विवश होंगे।

पटकनियां को मनरेगा मजदूरों ने आरोप लगाते हुए कहा कि मनरेगा योजना के तहत जॉबकार्ड धारकों को गांव में ही काम दिया जाता है। साथ ही नई व्यवस्था के साथ मजदूरी का भुगतान भी सीधे खातों में किया जाता है। लेकिन हम लोगों को दो महीनी पूर्व कराए गए कार्यों के बाद आज तक मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया। साथ ही उनकी उपस्थिति जाब कार्डों पर भी नहीं लगाई गई। मजदूरी न मिलने पर उच्चाधिकारियों को शिकायती पत्र देकर मजदूरी दिलानें की मांग की गई, लेकिन आज तक कुछ नहीं हुआ। इससे परिवार के समक्ष आर्थिक संकट के साथ ही भुखमरी की नौबत आ गई है। अधिकारियों द्वारा की जा रही लापरवाही का खामियाजा मनरेगा मजदूरों को भुगतना पड़ रहा है। चेतावनी दिया कि यदि समय रहते मजदूरी का भुगतान नहीं किया गया है तो सड़क पर उतरते हुए उग्र आंदोलन करने के लिए बाध्य होंगे। प्रदर्शन करने वालों में मुन्ना राम, हरिहर, महेन्द्र, चिंता देवी, जीयनी देवी, गोविन्द, पिंटू, रामनिवास, विनय कुमार आदि शामिल रहे। इस संबंध में ग्राम पंचायत अधिकारी जितेन्द्र यादव ने कहा कि मनरेगा मजदूरों की मजदूरी में कुछ तकनीकी खामियों के चलते देर हुआ है। भुगतान की प्रक्रिया जारी है। जल्द ही सभी मजदूरों का भुगतान कर दिया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here