गाजीपुर-हे गंगा मईया हमे अपने में समां ला

0
340

ग़ाज़ीपुर-मेदनीपुर तिराहा की तरफ से एक 65 वर्षीय महिला थके हारे कदमों से हमीद सेतु की तरफ बढी चली आरही थी। पुल पर कदम रखने से पुर्व उसने रूक कर दाहिने-बांये और आगे-पीछे देखा फिर पुल पर धीरे-धीरे आगे बढने लगी। कुछ आगे बढने पर उसने पुल की रेलिंग पकड़ कर गंगा के बहते हुए जलधार को ध्यानपूर्वक देखने लगी। बृद्ध महिला के हावभाव से राहगीरों को किसी अनहोनी की आसंका हुई तो राहगीरों ने महिला को रेलिंग पकड कर झांकने पर गिर कर डूबने का भय दिखाया। इसके बाद बृद्ध महिला कुछ और आगे बढकर वहीं हरकत दुहराने लगी। अभी कोई कुछ कहता या समझता कि महिला गंगा की अथाह जलधारा में कुद पडी। उसे गंगा में कुदते देख कर राहगीरों ने शोरगुल मचाना शुर कर दिया।शोरगुल सुनकर रेल-कम-रोड़ ब्रिज का निर्माण कार्य कर रहे कारिगरों और मजदूरों ने नाव के सहयोग डूब रही बृद्ध महिला को बचा कर गंगा से बाहर निकाला। सुचना पर पंहची सुहवल थाना पुलिस ने जब महिला से पुछताछ शुरू किया तो महिला ने अपना नाम नन्हकी देवी पत्नी छेदी राम ग्राम हरिश्चदपुर थाना सुहवल बताया।महिला ने परिवारिक कलह के चलते नदी में छलांग लगाया। पुलिस ने इसकी सूचना महिला के परिजनों को देने के साथ 108 एंम्बुलेंस बुलाकर चिकित्सकीय उपचार के लिए जिलाचिकित्सालय में भर्ती कराया जहाँ उसकी हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here