गोरखपुर-लूटेरे दरोगा व सिपाही गिरफ्तार

0
358

गोरखपुर-महाराजगंज जिले के निचलौल के निवासी सर्राफा कारोबारी तारकेश्वर वर्मा के भाई दीपक वर्मा और दूसरे कारोबारी गौतम वर्मा के कर्मचारी रामू वर्मा बुधवार को गहनों की खरीदारी करने बस से लखनऊ जा रहे थे दीपक वर्मा के पास 11 लाख 10 हजार नकद तथा करीब 5 लाख का सोना था वही रामू के पास 6 लाख नगद तथा 8 लाख मूल्य सोना था।दोनों एक ही बैग में रुपया व सोना लेकर जा रहे थे। गोरखपुर में रेलवे बस स्टेशन पर वर्दीधारी दरोगा व दो सिपाहियों ने उन्हें पकड़ लिया और उन पर तस्करी का आरोप लगाते हुए कार्मल स्कूल की तरफ पूछताछ करने के बहाने ले गये।वहां से दोनों को टेंपो में बिठाकर नौसढ़ ले गए जहां दोनों की पिटाई करने के बाद गहने व रुपयों से भरा बैग छीन लिया। सर्राफा कारोबारियों ने गोरखपुर कैंट थाने मे अज्ञात लूटरे पुलिस कर्मियोंके खिलाफ लूट का मुकदमा दर्ज करा दिया। लूट का मुकदमा दर्ज होते ही कैंट पुलिस व क्राइम ब्रांच पुलिस बदमाशों की तलाश में रेलवे स्टेशन रोड ,कार्मल रोड,नौसढ़ ,सहजनवा में लगे सीसीटीवी कैमरे की फूटेज की जांच करने लगे।इस जाँच के दौरान बस्ती जनपद मे पंजीकृत बोलेरो गाडी के नम्बर के आधार पर पुलिस बोलेरो मालिक के घर पहुंची।बोलेरो मालिक ने पुलिस को बताया कि बोलेरो उसका छोटा भाई देवेन्द्र यादव चलाता है।पुलिस ने जब देवेंद्र से पुछताछ किया तो उसने बताया कि उसकी बोलेरो को दरोगा धर्मेंद्र यादव गोरखपुर मे दबिश देने के नाम पर 2000/ रूपये में बुक करके ले गए थे। इससे पूर्व भी दरोगा 29 दिसंबर को गोरखपुर में ही दबीश डालने के नाम पर बुक कर के ले गए थे।इसके बाद गोरखपुर पुलिस ने सभी आरोपियों दरोगा धर्मेंद्र यादव,सिपाही महेंद्र यादव,सिपाही संतोष यादव,फर्जी पत्रकार व मुखबिर शैलेश यादव,मुखबिर दुर्गेश अग्रहरि तथा ड्राइवर देवेन्द्र यादव को पुलिस ने गिरफ्तार मामले का खुलासा कर दिया।सिपाही महेंद्र यादव गाजीपुर जनपद के जंगीपुर थानाक्षेत्र के ग्राम अलावलपुर का निवासी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here