तो क्या बजरंगी की हत्या शुनील, अरविंद और रामनिवास राठी ने किया ?

माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी की जेल के अंदर हत्या की वारदात के बाद जैसे-जैसे वक्त गुजरता जा रहा है। इससे जुड़े नए तथ्यों पर भी माथापच्ची बढ़ती चली जा रही है। अभी तक की जांच में जो हत्याकांड की कहानी उभर कर सामने आ रही है। उसमें पाया जा रहा है कि मुन्ना बजरंगी को एक नहीं दो पिस्टल से गोलियां मारी गई हैं। इसके अलावा इस वारदात में सुनील राठी के अलावा भी दो लोगों के शामिल होने की चर्चा आम है। अब सवाल यह उठ रहा है कि कहीं मुन्ना बजरंगी पर गालियां बरसाने में उसका सगा भाई तो शामिल नहीं था। सुनील का बड़ा भाई अरविंद राठी उसके आने से पहले ही बागपत जेल में बंद है। जेलर ने इसकी पुष्टि करते हुए कहा उससे भी पूछताछ की जा रही है। वैसे भी पुलिस जाँच में हत्या में दो असलहे के प्रयोग और तीन लोगों के सामिल होने की चर्चा बहुत पहले से है।

Also Read:  गाजीपुर टुड़े- पुर्वांचल में 2014 में नोटा का कहर

जेल सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सुनील राठी का बड़ा भाई अरविंद राठी करीब एक साल से यानी सुनील राठी के यहां आने के पहले से बागपत जेल में बंद है। हत्या के मामले में वह भी उम्रकैद की सजा काट रहा है। सुनील राठी के यहां आने के बाद चाचा के साथ जेल में उसकी भी धमक बढ़ गई थी। बताया जाता है कि वैसे तो वह बैरक में बंद था, मगर उसकी आवाजाही जेल के हर हिस्से तक थी। आठ जुलाई की रात जब पूर्वांचल के माफिया डॉन मुन्ना बजरंगी को बागपत जेल में लाया गया था उस समय सुनील राठी, उसका सगा भाई अरविन्द राठी व ताऊ राम निवास राठी बागपत जेल में ही बंद थे।

Also Read:  जौनपुर-चालीस लाख की चोरी