बाहुबली एमएलसी बृजेश सिह गाजीपुर कोर्ट में

288

गाजीपुर – 2 मई 1991 की रात 9:30 बजे अफजाल अंसारी चुनाव प्रचार कर अपने घर मोहम्मदाबाद वापस लौट रहे थे । कुंडेसर चट्टी पर उनकी जीप रूकी हुई थ। वह किसी से मिलने चले गए थे तभी दूसरी तरफ से मारुति 800 में सवार अज्ञात लोगों ने स्वचालित असलहों से अफजाल अंसारी के वाहन पर हमला कर दिया ।उस हमले में सुरेंद्र राय ,कमला सिंह तथा झिंगुरी गुप्ता की मौके पर ही मौत हो गयी। कामेश्वर राय, दीनानाथ राय व कैप्टन जगरनाथ गंभीर रुप से घायल हो गये ।पुलिस ने अपनी महीनों चली विवेचना में बृजेश सिंह व त्रिभुवन सिंह को मामले में नामजद किया । 27 वर्ष तक चली अदालती कार्यवाही के बाद 24 जुलाई 2018 को गाजीपुर की अदालत द्वारा दोष मुक्त कर दिये गये।न्यायालय के निर्णय से असंतुष्ट सुरेंद्र राय के परिजनों नें हाईकोर्ट में में अपील दाखिल किया है। इस मामले अपनी बेलबांड दाखिल करने बाहुबली एमएलसी बृजेश सिंह आज कडी सुरक्षा में गाजीपुर न्यायालय में उपस्थित हुये थे। उसरी चट्टी कांड की सभी पत्रावली अब हाईकोर्ट में स्थानांतरित हो जायेगी ।

Play Store से हमारा App डाउनलोड करने के लिए नीचे क्लिक करें- Qries