लखनऊ-मुख्तार अंसारी के करीबी प्रमुख प्रतिनिधि की हत्या

0
1023

लखनऊ।बुद्धवार को उप्र की राजधानी लखनऊ गोलियों की तड़तड़ाहट से थर्रा उठी। बाहुबली मऊ विधायक मुख्तार अंसारी के करीबी ब्लॉक प्रमुख प्रतिनिधि अजीत सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई।प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार दोनों तरफ से कुल 25- 30 राउंड गोली चली ।अचानक हुई गोलीबारी के कारण दुकानों के शटर धड़ाधड़ बन्द होने लगे। अजीत सिंह आजमगढ़ के पूर्व विधायक सीपू सिंह हत्याकांड का बतौर गवाह था। महज चार दिन बाद ही इसी हत्याकांड के मामले में उनको गवाही देनी थी। ऐसे में इस पूरे मामले को गैंगवार से जोड़कर देखा जा रहा है। अजीत सिंह को बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी का करीबी बताया जा रहा है। मृतक अजीत सिंह मऊ के मोहम्मदाबाद गोहना ब्लाक प्रमुख का प्रतिनिधि भी थे। वहीं गोलीबारी में अजीत का साथी मोहर सिंह व वहां से गुजर रहे ग्वरी गांव निवासी डिलिवारी ब्वाय प्रकाश गोली लगने के कारण गंभीर रूप से जख्मी हो गये। उनका उपचार लोहिया अस्पताल में चल रहा है। पुलिस आयुक्त डीके ठाकुर के अनुसार हमलावर अजीत सिंह के परिचित थे। गोली दोनों तरफ से चली है। अजीत के उपर कुल 18 मुकदमें दर्ज थे इनमें 5 मुकदमे हत्या के थे।। पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी है।गोलीबारी की पुरी घटना विभूतिखंड के कठौता पुलिस चैकी के समीप कठौता चैराहे के पास का है। काली स्कार्पियो से उतरकर अजीत सिंह अपने साथी मोहर सिंह के साथ अभी कुछ कदम ही चले थे कि दो बदमाश उनके उपर गोलियों की बौछार करना शुरू कर दिए। जवाब में अजीत की ओर से भी फायरिंग की गई। लेकिन अजीत के सिर में गोली लगने के कारण मौके पर ही मौत हो गई। हत्यारे दो दिन पुर्व ही लखनऊ पंहचे- प्राप्त जानकारी के अनुसार अजीत के हत्यारे दो दिन पुर्व ही लखनऊ पंहचे थे। तीनो शूटरों को लखनऊ मे रूकने की व्यवस्था एक बाहुबली विधायक ने कराया था।शूटरों ने लगातार अजीत की रेकी किया।अजीत कठौता चौराहे के पास स्थित उदयपुर टावर के खडा ही हुए थे कि शूटरों ने घटना को अंजाम दे फरार हो गये।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here