लखनऊ में एप्पल के एरिया सेल्स मैनेजर की पुलिस द्वारा हत्या

लखनऊ- उत्तर प्रदेश की बेलगाम पुलिस ने शुक्रवार की रात 1:30 बजे एप्पल जैसी मल्टीनेशनल कंपनी में काम करने वाले विवेक तिवारी की गोली मारकर हत्या कर दी। विवेक तिवारी एप्पल जैसी मल्टीनेशनल कंपनी के एरिया मैनेजर थे। वे श्री राम टावर में कंपनी के नए मोबाइल को लांच कर अपनी सहकर्मी सना खान के साथ घर वापस जा रहे थे। गोमती नगर इलाके में दो पुलिस वालों ने उनकी गाड़ी को रोकने का प्रयास किया, लेकिन विवेक तिवारी ने साथ में महिला सहकर्मी होने के कारण गाड़ी रोकने से इनकार कर दिया । गाड़ी रोकने के प्रयास में लगे पुलिस कर्मियों की बाइक में कार से हल्का सा स्पर्श हो गया। इसी बात से नाराज पुलिसकर्मियों ने उनकी गाड़ी का पीछा किया । गाड़ी नहीं रुकने पर नाराज पुलिसकर्मियों ने कुछ दूरी से ही गोली चला दी और वह गोली सीधे विवेक तिवारी जबड़े में जा लगी । सना ने विवेक तिवारी को गाड़ी रोकने के लिए कहा लेकिन विवेक तिवारी ने कहा अगर तुम साथ नहीं होती तो मैं गाड़ी अवश्य रोक देता। अत्यधिक खून बह जाने के कारण विवेक तिवारी पर मुर्झा आने लगी और कुछ दूरी के बाद विवेक तिवारी की गाड़ी एक पोल से टकरा गई। ऐसा होते देख विवेक तिवारी की गाड़ी पीछा कर रहे दोनो पुलिस कर्मी वहां से भाग लिए। कुछ समय बाद वहां पुलिस की जीप आई विवेक तिवारी को लोहिया हॉस्पिटल में भर्ती कराया । सना खान को पुलिस अपने साथ जीप में बिठाकर सारी रात लखनऊ का चक्कर लगाया । विवेक तिवारी की हालत को गंभीर मानते हुए सना खान ने पुलिस वालों से बार-बार कहा विवेक सर को पीजीआई में एडमिट कराइए लेकिन पुलिसकर्मियों ने सना खान की बात को नहीं सुना और विवेक तिवारी की मौत हो गई।

दोनों पुलिस कर्मियों को हत्या के मामले मे गिरफ्तार कर लिया गया है। विवेक तिवारी के परिजनों ने पोस्टमार्टम के बाद शव को लेने से इन्कार कर दिया है। अपुष्ट खबरों के अनुसार मृत विवेक की पत्नी ने एक करोड़ का मुआवजा और सरकारी नौकरी की मांग किया है।