लखनऊ में शिक्षामित्रों का सिर मुड़वाकर प्रदर्शन

लखनऊ-शिक्षामित्र एसोसिएशन के बैनर तले अपनी नियुक्ति की मांग को लेकर इकोगार्डन, आलमबाग में 69 दिन से धरना दे रहे शिक्षामित्र बुधवार को एक बार फिर उग्र हो गए। लगातार सरकार की उदासीनता से खफा एसोसिएशन की अध्यक्ष उमा देवी समेत दो दर्जन से अधिक पुरुष व महिला शिक्षामित्रों ने सिर मुड़वाकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया।
इन्होंने आरोप लगाया कि सरकार उनकी मांगों पर अनदेखी कर रही है। शहीद हुए शिक्षामित्रों के लिए प्रदेश भर के शिक्षामित्रों ने श्रंद्धांजलि दी। इसमें दूसरे पहर तपन, श्राद्ध किया। हाथों में तिरंगा लिए हक की मांग को लेकर शिक्षामित्र धरना स्थल से बाहर इकोगार्डन गेट पहुंच गए। नारेबाजी करके विरोध जताया। कहा कि महिलाओं के अपमान के बाद भी सरकार नहीं मानती है। तो करो या मरो की नीति अपनाई जाएगी। गेट पर पहुंचे एसीएम तृतीय ब्रजेन्द्र कुमार ने समझा-बुझाकर मामला शांत कराया। वरिष्ठ उपाध्यक्ष सन्तोष दुबे का कहना है कि सरकार नहीं चेती तो विरोध-प्रदर्शन तेज होगा। मांग1-आरटीई एक्ट 2009 के तहत पूर्ण शिक्षक का दर्जा और वेतनमान
2- उत्तराखण्ड के अनुसार टेट उतीर्ण करने की छूट मिले।
3-जो टेट उतीर्ण है उन्हें बिना लिखित परीक्षा उम्र और अनुभव का भारांक पर नियमित किया जाय।
4- असमायोजित शिक्षामित्रों को समान कार्य-समान वेतन दिया जाए।
5- मृतक के परिवार को आर्थिक सहायता व एक सदस्य को योग्यता के मुताबिक नौकरी मिले

Also Read:  सपा की महिला कार्यकरताओं पर पुलिस ने लाठियां वर्षाया